ईद से पहले धमाकों से दहला इराक, बगदाद में IS के आत्मघाती हमले में 36 लोगों की मौत

युद्धग्रस्त देश में सोमवार की शाम हुआ खूनी नरसंहार वर्षों में सबसे घातक हमलों में से एक है. इस हमले में कथित तौर पर कम से कम 36 लोगों की जान चली गई है जबकि दर्जनों घायल हैं. यह हादसा मुस्लिमों के त्योहार ईद अल-अझा की शुरुआत से कुछ घंटे पहले हुआ, जिसे त्याग और बलिदान का पर्व माना जाता है.

बगदाद: 

इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद के उपनगरीय इलाके में इस्लामिक स्टेट समूह के एक आत्मघाती हमले में 36 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है. मृतकों में अधिकांश महिलाएं और बच्चे शामिल हैं. ये हमला सोमवार की शाम तब हुआ, जब लोग ईद-उल-जुहा (Eid-ul -Adha) से पहले बाजारों में खरीदारी कर रहे थे. इस हादसे से पूरा बगदाद शोक में डूब गया है.

युद्धग्रस्त देश में सोमवार की शाम हुआ खूनी नरसंहार वर्षों में सबसे घातक हमलों में से एक है. इस हमले में कथित तौर पर कम से कम 36 लोगों की जान चली गई है जबकि दर्जनों घायल हैं. यह हादसा मुस्लिमों के  त्योहार ईद अल-जुहा की शुरुआत से कुछ घंटे पहले हुआ, जिसे त्याग और बलिदान का पर्व माना जाता है.

इस हमले ने आतंकी संगठन आईएस की पहुंच के बारे में घृणा और नए सिरे से आशंकाओं को जन्म दे दिया है, जिसने 2017 के अंत तक एक भीषण अभियान के बाद इराक में अपना अंतिम क्षेत्र खो दिया था, लेकिन सुदूर रेगिस्तान और पहाड़ी क्षेत्रों में उसका स्लीपर सेल बरकरार था.

सुन्नी मुस्लिम जिहादियों ने टेलीग्राम मैसेंजर सेवा पर दावा किया है कि एक आईएस आत्मघाती हमलावर ने उत्तर-पूर्वी बगदाद के सदर शहर के शिया जिले के वोहेलत बाजार में एक विस्फोट किया, जो ईद के मौके पर खरीदारी के लिए  सजाया गया था और वहां काफी भीड़ थी.

इस हमले के बाद लोग दहशत में आ गए और वहां अफरा-तफरी मच गई. चारों ओर रोने और चीखने की आवाज और हवा में धुआं भर गया. जब धुआं साफ हुआ, तो बाजार में बिखरे हुए सैंडल, बाजार की उपज और स्टॉलों के जले हुए मलबे के बीच मानव अवशेष बिखरे पड़े थे.

राष्ट्रपति बरहम सालिह ने "ईद की पूर्व संध्या पर अभूतपूर्व क्रूरता के जघन्य अपराध" की निंदा की है, और ट्विटर पर लिखा कि अपराधियों को एक पल के लिए भी चैन से नहीं रहने देंगे.

 

0 comments

Leave a Reply