ईरान का दावा, हमारे महान वैज्ञानिक की हत्या में दिख रही इजरायल की भूमिका

ईरान में तेहरान के पास शुक्रवार को गुप्त परमाणु हथियार कार्यक्रम में महारत हासिल करने वाले एक ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादे की हत्या कर दी गई। अब इसको लेकर ईरान ने आरोप लगाया कि देश के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक की हत्या में इजरायल की भूमिका के गंभीर संकेत मिले हैं। ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने शुक्रवार को ट्वीट किया, आतंकवादियों ने एक प्रख्यात ईरानी वैज्ञानिक की हत्या कर दी। यह कायरता-इजरायल की भूमिका के गंभीर संकेतों के साथ-साथ अपराधियों की हताशा को दर्शाती है। बता दें कि मीडिया के अनुसार वैज्ञानिक की कार पर हथियारबंद आतंकवादियों द्वारा गोलीबारी किए जाने के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। 

हालांकि, इजरायल ने इस आरोप पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। गौरतलब है कि इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने एक बार फखरीजादेह के बारे में बात करते हुए जनता को उस नाम को याद रखने के लिए कहा था। इजरायली की खुफिया एजेंसी मोसाद काफी समय से वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की तलाश में थी। वहीं, हाल ही में नेतन्याहू की स‌ऊदी क्राउन प्रिंस, यूएई और बहरीन के राजनेताओं से हुई मुलाकातों को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा है। 

ट्रंप ने ईरानी पत्रकार के ट्वी‌ट को किया रीट्वीट

उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फखरीजादेह की हत्या के बाद, एक ईरानी पत्रकार योसी मेलमन के ट्वीट को रीट्वीट किया है। पत्रकार ने फखरीजादेह मोसाद की ओर से वांटेड बताया और हत्या में इजरायल की भूमिका का संकेत देते हुए इसे ईरान के लिए एक बड़ा मनोवैज्ञानिक और पेशेवर झटका बताया है।

 फखरीजादेह को कहा जाता था 'द फादर ऑफ ईरानियन बॉम्ब'

तेहरान के पास इस घटना को अंजाम दिया गया। देश के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम में अहम स्थान रखने वाले प्रमुख ईरानी परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह को 'द फादर ऑफ ईरानियन बॉम्ब' कहा जाता था। राजधानी के बाहर घात लगाए बैठे आतंकवादियों ने फखरीजादेह और उसके अंगरक्षकों को ले जा रही एक कार पर गोलीबारी करने से पहले एक दूसरी कार को निशाना बनाया था। फखरीजादेह इमाम हुसैन विश्वविद्यालय में भौतिकी के प्रोफेसर थे, वह ईरानी रक्षा मंत्रालय और सशस्त्र बल रसद में एक वरिष्ठ वैज्ञानिक थे। 

 

0 comments

Leave a Reply