दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर अब लगेगा 2000 रुपये का जुर्माना : अरविंद केजरीवाल

 

नई दिल्ली:  Delhi Coronavirus Updates : दिल्ली में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अरविंद केजरीवाल की सरकार (Arvind Kejriwal Government) ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इसके तहत लिए गए नए फैसले में मास्क न पहनने पर लगाई जाने वाले जुर्माने (penalty for not wearing mask) की रकम को बढ़ा दिया गया है. अब दिल्ली में अगर कोई मास्क नहीं पहनेगा तो उसके ऊपर ₹2000 का जुर्माना लगाया जाएगा. अभी तक ₹500 का जुर्माना होता था. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि उपराज्यपाल से मिलकर यह फैसला ले लिया गया है. 

बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक सर्वदलीय बैठक की थी, जिसमें कांग्रेस और बीजेपी के प्रतिनिधि भी शामिल हुए थे. बैठक के बाद डिजिटल कॉन्फ्रेंस कर केजरीवाल ने कहा कि 'सर्वदलीय बैठक में मैंने सभी दलों से एक ही बात कही कि यह बहुत मुश्किल समय है यह राजनीति करने का समय नहीं है. राजनीति करने के लिए पूरी जिंदगी पड़ी है. हम लोगों को थोड़े दिन के लिए राजनीति को साइड कर देना चाहिए. यह समय सेवा करने का है. आने वाली पीढ़ी के लोग याद रखेंगे कि जब दिल्ली इतनी कठिन परिस्थिति से गुजर रही थी तब हमने दिल्ली की कैसे सेवा की है. मुझे बेहद खुशी है कि सभी लोगों ने इस बात का समर्थन किया.'

छठ पूजा को लेकर हो रही राजनीति पर केजरीवाल ने बचाव करते हुए कहा कि 'हम भी छठ पूजा करते हैं और खास तौर से हमारे पूर्वांचल भाई बहनों की छठ में बहुत श्रद्धा है. हम चाहते हैं कि लोग छठ बहुत अच्छे से मनाएं. आप मुझे अपना बेटा और भाई मानते हैं मैं आपके परिवार का हिस्सा हूं मैं तो चाहता हूं कि मेरे परिवार के 2 करोड लोग खुशी-खुशी छठ पूजा मनाएं लेकिन आप सोचकर देखिए कि अगर हम बाहर किसी तालाब के अंदर 200 लोग एक साथ उतरेंगे और उसमें अगर एक को भी कोरोना हो तो सबको संक्रमण हो जाएगा. सभी एक्सपर्ट का कहना है कि उस पानी के जरिए सभी में संक्रमण फैल जाएगा.'

केजरीवाल ने बताया कि 'दिल्ली में अभी 446 ICU बेड्स और 7361 कोरोना बेड्स उपलब्ध हैं. प्राइवेट अस्पतालों में 80% ICU बेड्स कोरोना के रिज़र्व कर रहे हैं, 400 बेड्स इससे बढ़ सकते हैं. जितनी भी नॉन-क्रिटिकल और प्लांड सर्जरी है उनको कुछ दिन के लिए टाला जा रहा है इसके लिए अस्पतालों को कह दिया गया है. नॉन-कोविड ICU की संख्या 50% थी अब उसको अगले कुछ दिन के लिए कम किया जा रहा है. दिल्ली सरकार अपनी अस्पतालों में 663 और आईसीयू बेड की व्यवस्था कर रही है. केंद्र सरकार ने 750 आईसीयू बेड देने का आश्वासन दिया है. यानी दोनों मिलाकर 1413 आईसीयूबैक्स उपलब्ध हो जाएंगे.'

 

0 comments

Leave a Reply