मुंबई में बेकाबू हुआ कोरोना वायरस, पिछले 24 घंटे में 6900 से ज्यादा नए मरीज आए सामने

मुंबई: 

Mumbai Coronavirus Cases : मुंबई में कोरोना वायरस बेकाबू होता नजर आ रहा है और रविवार को पिछले 24 घंटे में 6900 से ज्यादा नए मरीज सामने आए हैं. एक दिन पहले शनिवार को मुंबई (Mumbai Coronavirus Cases) में पिछले 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 6 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. राजधानी में शनिवार को 6123 कोरोना के केस रिपोर्ट किए गए थे. जबकि 12 मौतें 24 घंटे के दौरान रिकॉर्ड की गईं. रविवार को 8 मौतें दर्ज की गईं. मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackrey) ने रविवार को कोविड टॉस्कफोर्स (Covid Taskforce) के साथ बैठक की थी. उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोग नियमों का पालन नहीं कर रहेहैं, लिहाजा लॉकडाउन की तैयारी करें.

मुंबई में इस दौरान स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या करीब 50 फीसदी यानी 3380 रही. देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में कोरोना के कुल एक्टिव केस 45,140 तक पहुंच गए हैं. जबकि कुल मौतों का आंकड़ा 11,649 पहुंच गया है. मुंबई में रिकवरी रेट घटकर 86 फीसदी पर आ गया है, पिछले एक हफ्ते में कोरोना के मामले 1.17 फीसदी बढ़ गए हैं. जबकि मुंबई में कोरोना के मामले दोगुना होने का वक्त घटकर 58 आ गया है. मुंबई में गंभीर, मामूली और जटिल मामलों वाले मरीजों के लिए बेड 12,742 हैं. जबकि सामान्य मरीजों के लिए बेड की संख्या 23,806 तक की गई है. आईसीयू बेड 1669 और वेंटीलेटर बेड 1014 हैं. ऑक्सीजन बेड की संख्या 8534 हैं.

कोविड टॉस्क फोर्स की बैठक में ठाकरे ने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन नही हो रहा है, इसलिए लॉकडाउन की तैयारी करें. टॉस्कफोर्स की बैठक में मुद्दा उठा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से मरीजों के इलाज की सुविधा पर असर पड़ सकता है, जो चिंता का विषय है. टॉस्कफोर्स को आशंका है कि कोरोना से मौतों के आंकड़े भी बढ़ सकते हैं.

सरकार ने मंत्रालय और सरकारी कार्यालयों में आम जनता के प्रवेश पर पाबंदी का निर्देश भीदिया है. बैठक में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, स्वास्थ्य मंत्री डॉ राजेश टोपे ,  मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, टॉस्कफोर्स से जुड़े वरिष्ठ डॉक्टर और सरकार के बड़े अधिकारी उपस्थित थे. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि अगर लोग नियमों का पालन नही कर रहे हैं, तो ऐसे में हम लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहे हैं.स्वास्थ्य प्रधान सचिव डॉ प्रदीप व्यास ने बताया कि वर्तमान में 3 लाख 75 हजार आइसोलेशन बेड में से 1 लाख 7 हजार भर चुकी हैं, बाकी भी तेजी से भर रहे हैं.

कोरोना के 60 हजार 349 ऑक्सीजन बेड में से 12 हजार 701 भर चुके हैं. 9 हजार 30 वेंटीलेटर में से 1 हजार 881 भर चुके हैं. लेकिन तेजी से बढ़ रही मरीजो की संख्या देखकर सुविधा कमी पड़ सकती है.कोरोना प्रोटोकॉल का सख्त पालन नही हो रहा है इसलिए लॉकडाउन की तैयारी करें.

 

0 comments

Leave a Reply