भारत में करोना विस्फोट , महाराष्ट्र,केरल और दिल्ली में कोविड-19 के 44 प्रतिशत सक्रिय मामले

 


दिल्ली में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर कोरोना संक्रमण के नए मामलों का यहां रेकॉर्ड बनता नज़र आ रहा है।

त्योहारी सीजन की भीड़, सरकार की पूरी ढिलाई, और बदलते मौसम ने करोना संकट को एक खतरनाक मोड पर ला दिया है। जहा एक ओर देश के अन्य भागों से करोना संक्रमण की गति धीमी होती दिख रही है, वहीं अकेले दिल्ली ने राष्ट्रीय औसत को बिगाड़ दिया है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र,केरल और दिल्ली में कोरोना के देश में कुल सक्रिय मामलों में से 44 प्रतिशत मामले है जबकि शेष 56 फीसदी सक्रिय मामले 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में है।

इन तीनों राज्यों में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 195,099 है जबकि पूरे देश में वर्तमान में कोरोना के 446805 सक्रिय मामले है। महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे अधिक 82904,केरल में 70191 और दिल्ली में लगातार बढ़ते हुए 42004 सक्रिय मामले है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में 38,617 नए मामले सामने आए और संक्रमितों की संख्या करीब 89.12 लाख के पार पहुंच गयी और स्वस्थ होने वालों की संख्या 83.35 लाख से अधिक हो गयी है, जबकि 474 और मरीजों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 130,993 हो गया। देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या में 6596 कमी आने के बाद यह संख्या घटकर 446,805 रह गयी है।

वजह तलाशने में जुटे वैज्ञानिक

दिल्ली में अन्य जगहों से अलग 
कोरोना वायरस का स्ट्रेन मिलने के बाद सीएसआईआर के ही वैज्ञानिक अब इसके पीछे की वजह तलाशने में जुटे हुए हैं। नाम न छापने की शर्त पर एक वैज्ञानिक ने बताया कि महामारी के शुरूआती महीनों में विदेशों से आने वाले लोगों को हवाई अड्डे पर ही आइसोलेट किया जा रहा था लेकिन मार्च के महीने में विदेशों से दिल्ली और फिर यहां से राज्यों तक आवागमन हुआ।देश के कई शहरों में सीधे भी विदेशों से लौटकर आने पहुंचे थे। ऐसे में अलग अलग देश से भिन्न भिन्न असर वाले स्ट्रेन भारत आए। उम्मीद है कि दिल्ली में इसी तरह से ए3आई स्ट्रेन फैलाव हुआ। हालांकि अभी इसका वैज्ञानिक अध्ययन होना बाकी है।



स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज जारी आंकड़ों के अनुसार देश के विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना संक्रमितों की संख्या इस प्रकार है:

राज्य.....................सक्रिय........स्वस्थ......मौत

अंडमान निकोबार.....150...........4363........61
आंध्र प्रदेश..........16985.......832284.....6890
अरुणाचल प्रदेश.....1212.........14644........48
असम ................3329......206401.......966
बिहार ................5156.....220668........1194
चंडीगढ़ ..............1026.......14744........252
छत्तीसगढ़  ........18561.....192181........2623
दादरा नगर हवेली
और दमन दीव ........21.........3274.............2
दिल्ली..............42004.....445782........7812
गोवा ...............1383........44132............667
गुजरात...........12458......174088.........3815
हरियाणा .......19153.......183261..........2063
हिमाचल प्रदेश..6772........23506............462
जम्मू-कश्मीर...5585.........96392..........1604
झारखंड ........2669.......102891............931
कर्नाटक ......25342........827241.........11557
केरल .........70191........461394..........1915
लद्दाख ...........930............6539..............94
मध्यप्रदेश.....9060.........173284..........3102
महाराष्ट्र......82904......1623503........46102
मणिपुर........2918..........19065............225
मेघालय ......734...........9955..............102
मिजोरम........504............2972...............5
नागालैंड.......1138...........8997...............53
ओडिशा .....8018.........300474...........1560
पुड्डचेरी........843.......34958.............608
पंजाब..........5821.....132266...........4510
राजस्थान ...19033.....209058............2089
सिक्किम.......312..........4144...............92
तमिलनाडु ..15085......734970.........11513
तेलंगाना.....13068....245293...........1415
त्रिपुरा.........998......30750.............364
उत्तराखंड......4165....63603............1119
उत्तरप्रदेश...22166....484692............7412
पश्चिम बंगाल..27111...403340.......7766
कुल .........446805...8335109...130993

 

0 comments

Leave a Reply