बिहार | 'ढाई दिन' का कार्यकाल- मेवालाल पर बढ़ा विवाद-और फिर शिक्षा मंत्री ने दे दिया इस्तीफा

पटना : बिहार के नए शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने इस्तीफा दे दिया है। गुरुवार को दोपहर  में उन्होंने पदभार ग्रहण किया लेकिन, कुछ हीं देर बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। उनपर भ्रष्टाचार के आरोप हैं।

प्रोफेसर नियुक्ति घोटाले मामले के आरोप में बढ़ते विवाद के बाद मेवालाल चौधरी को बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तलब किया था, जिसके बाद माना जा रहा था कि वो इस्तीफा दे सकते हैं।

16 नवंबर को शपथ ग्रहण समारोह के बाद उन्हें शिक्षा मंत्री बनाया गया था। लेकिन, शिक्षा मंत्री बनते हीं उनके पुराने आरोप एक बार फिर से सुर्खियों में आ गए। जिसके बाद हर जगह नीतीश कुमार की फजीहत होने लगी।

तेजस्वी यादव और विपक्ष लगातार मेवालाल चौधरी को लेकर सवाल उठा रहे थे। राजद सुप्रीमो लालू यादव ने तो बुधवार को ट्वीट कर भाजपा पर जमकर निशाना साधा था। उन्होंने सुशील मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि उस समय तो आप मेवालाल को ढूंढ रहे थे और अब मिले तो मंत्री बना दिया।

बढ़ते विवाद के बाद आखिरकार नीतीश कुमार ने मेवालाल चौधरी का इस्तीफा ले हीं लिया। जेडीयू का कहना है कि मेवालाल का इस्तीफा लोकलाज की वजह से लिया गया है। आरोप साबित होने के बाद हीं किसी को सजा दी जा सकती है। लेकिन, यदि किसी पर भ्रष्टाचार का आरोप है तो उस पर भी पार्टी बर्दाशत नहीं कर सकती है।

 मेवालाल चौधरी का इस्तीफा स्वीकृत

बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सलाह पर शिक्षा मंत्री डॉ. मेवालाल चौधरी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

      राजभवन से प्राप्त सूचना के अनुसार राज्यपाल श्री चौहान ने आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सलाह पर
शिक्षा मंत्री डॉ.मेवालाल चौधरी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री की सलाह पर राज्यपाल ने शिक्षा विभाग का अतिरिक्त प्रभार भवन निर्माण विभाग के मंत्री अशोक चौधरी को सौंपा है ।

        गौरतलब है कि भागलपुर कृषि विश्वविद्यालय  नियुक्ति घोटाले में आरोपों के कारण शिक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण करने के तीन घंटे के अंदर श्री चौधरी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था । इससे पहले श्री चौधरी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी और ऐसा समझा जाता है कि मुख्यमंत्री ने उनपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण उन्हें तुरंत इस्तीफा देने को कहा ।

0 comments

Leave a Reply