जी हाँ ! इंडिया जिंदाबाद था, जिंदाबाद है, जिंदाबाद रहेगा जब तक ‘मोहित’ जैसे युवा , अपने दोस्त ‘आकिब’ के लिए मदद की गुहार लगाते रहेंगे

 

नई दिल्ली : ( एशिया टाइम्स )  ‘दी हिन्द गुरू अकैडमी’  के डायरेक्टर नूर नवाज़ खान ने अज अपने फेसबुक पर एक whatsapp मैसेज  शेयर किया है जो हमारे सविधान की प्रस्तावना को प्रतिबिंबित करता है , देश में नफरत का माहौल पैदा करने वालों के मुह पर जोर दार तमाचा है  .

यह मैसेज  लिखते हुए नूर नवाज़ खान ज़रा देर के लिए झिझकते  फिर कहते हैं  कि  “ मुझे यह  मैसेज  यहां नहीं लिखना चाहिए था लेकिन अच्छाई की इतनी कमी है की कुछ अच्छा तो सोशल मीडिया पर होना चाहिए” . 

Image result for प्रस्तावना

सविधान की प्रस्तावना 

कहानी सिर्फ इतनी है कि ‘ मोहित’ जो एक छात्र है अपने दोस्त ‘आक़िब’  की फीस के लिए 10 हज़ार रूपये का इंतज़ाम करने के लिए बेचैन है और  वह इस सम्बन्ध में नूर नवाज़ खान को एक मैसेज करता है .


मोहित की यह फ़िक्र मंदी आप भी देखें.


[08/02, 11:35 pm] SPTP English18 Mohit SST: Hello sir

I want to speak to you regarding my friend Mohd. Aquib.

 

[08/02, 11:45 pm] SPTP English18 Mohit SST: He has been qualified for B.Ed(subject:urdu, at AMU).and he needs ten thousand rupees which will be paid within a fortnight.sir i am not in a position to extend him the much needed help. Even if I do,we will have to take to money pooling which is not possible given the last date tomorrow as he told me. .so please help him. We will pay you within the stipulated time.he will see you tomorrow if you rise to the occasion.

 

Thanking you

Mohit 

 

 हो सकता हो कि यह बात आप को  बहुत मामूली लगे लेकिन तेज़ी से फैलते नफरत के

प्रदूषण  को मिटाने के लिए देश वासियों को हौसला देने वाला ज़रूर है , जी हां यही है मेरा हिन्दुस्तान ,जय हिन्द 

0 comments

Leave a Reply