बिहार : शिक्षामंत्री की नियुक्ति पर लालू प्रसाद ने किया प्रहार- मेवा लाल की नियुक्ति पर छिड़ा नया विवाद

 

पटना: बिहार में नई सरकार बनने के दो दिनों के भीतर ही भ्रष्टाचार के आरोपी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के विधायक मेवालाल चौधरी के शिक्षा मंत्री के रूप में नियुक्ति किए जाने पर विवाद छिड़ गया है |

बिहार की नई नवेली नीतीश कुमार सरकार में शिक्षा मंत्री बने डॉ मेवालाल चौधरी भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण निशाने पर हैं। बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) के कुलपति रहते समय मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उनपर एफआईआर भी दर्ज हुई थी। इसके बाद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) से उन्हें निलंबित कर दिया गया था। हालांकि नीतीश कुमार की कैबिनेट में सिर्फ मेवालाल चौधरी ही दागी नहीं हैं।


एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और इलेक्शन वॉच के अध्ययन के अनुसार, नीतीश कैबिनेट के 14 मंत्रियों में से आठ (57 प्रतिशत) के खिलाफ आपराधिक मामले हैं। वहीं छह (43 प्रतिशत) के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। आपराधिक मामलों वाले 8 मंत्रियों में से बीजेपी के 4, जेडीयू के 2 और हम व वीआईपी के एक-एक शामिल हैं। हालांकि, चौधरी को मंत्रिमंडल में शामिल करते ही हंगामा शुरू हो गया। 2017 में चौधरी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनसे मिलने से भी इनकार कर दिया था।

शपथ पत्र में कही ये बड़ी बात
मेवालाल चौधरी ने अपने शपथ पत्र में आईपीसी के तहत एक आपराधिक मामला और चार गंभीर मामले घोषित किए हैं। पशुपालन और मत्स्य पालन मंत्री मुकेश सहनी ने पांच आपराधिक मामलों और गंभीर प्रकृति के तीन मामलों की घोषणा की है। बीजेपी के जिबेश कुमार ने भी पांच आपराधिक मामलों और गंभीर प्रकृति के चार मामलों की घोषणा की है। वहीं पांच अन्य हैं जिनके खिलाफ अलग-अलग प्रकृति के आपराधिक मामले दर्ज हैं।


तेजस्वी ने कसा तंज़
नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिए नीतीश सरकार पर हमला बोला,  उन्होंने चाथी बार मुख्यमंत्री बने नीतीश कुमार पर राज्य में सत्ता बनाए रखने के लिए "अपराधियों" को नियुक्त करने का आरोप लगाया.


तेजस्वी ने कहा, ''सत्ता अपराधियों को बचा रही है ... मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मेवालाल चौधरी को नियुक्त करके लूट और डकैती की छूट दी है ... मुख्यमंत्री अपनी कुर्सी बचाने के लिए अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता पर अपना प्रवचन जारी रखेंगे ... अल्पसंख्यक समुदायों में से कोई नहीं मंत्री बनाए गए.”

लालू प्रसाद ने किया कहा?
बता दें कि भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने भी नियुक्ति को लेकर भाजपा और जेडीयू पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि जो लोग पहले मेवालाल चौधरी की तलाश कर रहे थे, वे अब चुप हैं.

 

0 comments

Leave a Reply