कैलाशपुर ग्राम प्रधान ने मलेरिया के प्रति सचेत रहने की अपील की

कोरोना महामारी के वक्त में बरसात के साथ मलेरिया का खतरा बढ़ गया है जिसके मद्देनज़र राज्य सरकार ने पूरे जून के महीने को एंटी मलेरिया माह घोषित किया है.

 

कैलाशपुर : कोरोना महामारी के वक्त में बरसात के साथ मलेरिया का खतरा बढ़ गया है. इस खतरे के मद्देनज़र राज्य सरकार ने पूरे जून के महीने को एंटी मलेरिया माह घोषित किया है. एंटी मलेरिया माह को देखते हुए ग्राम कैलाशपुर के प्रधान ने भी गांव को मलेरिया से महफूज़ रखने के लिए कमर कस ली.
प्रधान निवास पर प्रधानपति एम एस बबलू ने लोगों की बैठक बुला कर उन्हें मलेरिया के प्रति आगाह किया. इस अवसर पर बोलते हुए बबलू ने कहा कि राज्य सरकार ने जून माह को एंटी मलेरिया घोषित किया है तो हमारा कर्तव्य है कि हम गांव में लोगों को मलेरिया की बीमारी पैदा होते वाले कारणों के प्रति जागरुक करें.
प्रधानपति बबलू ने लोगों को जानकारी देते हुए बताया कि यदि कंपन आने से बुखार चढ़े और पसीना बार बार आए तो मलेरिया हो सकता है. इससे बचने के लिए हमें मलेरिया बीमारी पैदा करने वाले मच्छर से बचना होगा. बबलू ने कहा कि घर के आसपास नालियों, गड्ढों में पानी ना जमने दें. नालियों की लगातार सफाई की जाए. बबलू ने कहा कि पंचायत की तरफ से भी फोगिंग और सफाई की विशेष व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने लोगों से अपील की कि घरों में कूलर, तथा पानी भरने के अन्य चीजें हफ्ते में एक बार जरूर सुखाएं. कूड़ा कचरा खुले मे ना रखें बंद कूड़ेदान में ही डालें.

बैठक में मौजूद एनवी हैल्थ कंपनी के संचालक वाहिद अली खान ने लोगों को जानकारी देते हुए बताया कि यदि ठंड और कंपकपी से बुखार चढ़ रहा है तो मलेरिया की प्रबल संभावना रहती है. उन्होंने कहा कि मलेरिया शरीर में कमज़ोरी लाता है. इनके अलावा बैठक में मौजूद मीम पार्टी के नेता डाक्टर सनव्वर अली खान ने कहा कि मलेरिया से खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को भी बचाना है. उन्होंने लोगों से अपील की कि सोते हुए मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें तथा आपस में लोगों से मिलकर जागरुकता फैलाएं. 

बैठक में इन लोगों के अलावा बीडीसी मुहम्मद सुलेमान, पंचायत मेंबर शुएब, समाजसेवी सनव्वर अली पप्पू, इमरान अली , नसीर मालिक,  फय्याज अली आदि उपस्थित रहे.

 

0 comments

Leave a Reply