गौतम अडाणी ने कहा, हवाई अड्डों से समूह के कारोबार को रणनीतिक बढ़त मिलेगी

नयी दिल्ली (भाषा) अडाणी समूह के प्रमुख गौतम अडाणी ने बुधवार को कहा कि उनके समूह के मुंबई हवाई अड्डे की नियंत्रण हिस्सेदारी हासिल करने से छह हवाई अड्डों के उनके मौजूदा पोर्टफोलियो को बढ़ाने में मदद मिलेगी और समूह के अन्य व्यवसायों को रणनीतिक बढ़त मिलेगी।

अडाणी एटरप्राइजेज की सहायक इकाई अडाणी एयरपोर्ट ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एमआईएएल) में जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स लिमिटेड की 50.50 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की इसी सप्ताह घोषणा की है।

अडाणी एयरपोर्ट ने मुंबई एयरपोर्ट में 74 प्रतिशत की नियंत्रक हिस्सेदारी हासिल करने की योजना तैयार कर रखी है। इसके लिए उसने एयरपोर्ट्स कंपनी ऑफ साउथ अफ्रीका (एसीएसए) और बिडवेस्ट की 23.5 प्रतिशत हिस्सेदारी भी खरीदेगी।

अडाणी ने एक बयान में कहा, ‘‘मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पूरी तरह से विश्वस्तरीय है। छह हवाई अड्डों के हमारे मौजूदा पोर्टफोलियो में मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शामिल होने से हमें एक महत्वपूर्ण मंच मिला है, जिससे हमें अपने अन्य थोक व्यवसायों के लिए रणनीतिक बढ़त मिलेगी।’’

एमआईएएल के पास नवी मुंबई एयरपोर्ट में 74 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

उन्होंने कहा, ‘‘इस अधिग्रहण से हमें अपने ग्राहकों की सेवा करने और फुटकर तथा थोक व्यापार मॉडल को बढ़ाने में मदद मिलेगी।’’

अडाणी ने कहा कि मुंबई 21वीं सदी के शीर्ष पांच वैश्विक महानगरीय केंद्रों में एक बनने के लिए तैयार है और यह देश का शीर्ष हवाई अड्डा तथा मुख्य घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय केंद्र होगा।

0 comments

Leave a Reply