बोल्टन की नई किताब में पोम्पेओ और ट्रम्प के बीच मौजूद द्वेष का पर्दाफाश

अमेरिकी राष्ट्रपति के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा मामला सहायक जॉन रॉबर्ट बोल्टन ने अपनी नई किताब में राष्ट्रपति के कार्यकाल में ट्रम्प की कुछ कार्रवाई को सार्वजनिक किया, जिसमें कहा गया कि ट्रम्प ने अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को अमेरिकी कानूनी और कूटनीतिक नीति को बाँध दिया। बोल्टन ने पर्दाफाश करते हुए कहा कि विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ देखने में ट्रम्प के सबसे ईमानदारी समर्थकों में से एक है, लेकिन वास्तव में वे गुप्त रूप से ट्रम्प को बदनाम करते थे। उन्होंने कोरियाई मुद्दे पर ट्रम्प की कूटनीतिक कोशिश पर संदेह व्यक्त किया। 

फ्रांस की न्यूज एजेंसी एएफ़पी ने 17 जून को“न्यूयार्क टाइम्स”में प्रकाशित बोल्टन की किताब में कुछ भाग के हवाले से कहा कि ट्रम्प और डीपीआरके के नेता किम जोग-उन के बीच सिंगापुर में हुई पहली वार्ता के दौरान पोम्पेओ ने बोल्टन को एक कागज चिट दी, जिसमें लिखा था कि ट्रम्प बहुत खराब है। 

अप्रैल 2018 में पोम्पेओ ने ट्रम्प की कूटनीतिक मध्यस्थता के लिए डीपीआरके की यात्रा की। लेकिन बोल्टन ने अपनी किताब में लिखा कि सिंगापुर शिखर वार्ता के बाद एक महीने में, पोम्पेओ ने ट्रम्प की कूटनीतिक कोशिश को उपेक्षा करते हुए कहा कि उसे शून्य सफलता मिलती है।

ब्रिटिश अख़बार“द टाइम्स”की वैबसाइट के मुताबिक, बोल्टन ने अपनी किताब में ट्रम्प को“चौंकाने वाला अज्ञानी”बताया। उन्होंने लिखा कि साल 2018 में तत्कालीन ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मई से भेंट के दौरान एक ब्रिटिश अधिकारी ने ब्रिटेन को एक न्यूक्लियर महादेश कहा। इस बीच ट्रम्प ने पूछा कि क्या आपका देश एक न्यूक्लियर महा देश है?बोल्टन के मुताबिक, ट्रम्प का यह सवाल मजाक नहीं है।

अमेरिकी अख़बार“वॉल स्ट्रीट जर्नल”की वैबसाइट ने 18 जून को रिपोर्ट दी कि ट्रम्प ने बोल्टन की नई किताब में अपने विवरण को अस्वीकार किया और कहा कि वह एक धोखेबाज़ है, ह्वाइट हाउस में सब लोग उसे नापसंद करते हैं।

इसके साथ ही ट्रम्प ने कहा कि उन और पोम्पेओ के बीच संबंध बहुत अच्छा है। लेकिन बोल्टन ने किताब में कहा कि पोम्पेओ ने कई बार इस्तीफा देने के बारे में सोचा था।

ट्रम्प ने बोल्टन को अपनी टीम में वार्ता का साधन माना और कहा कि उन्होंने कई बार बोल्टन को अमेरिका को और एक युद्ध में ढकेलने से रोका।

ब्रिटिश समाचार एजेंसी रायटर ने कहा कि नवम्बर में अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के पहले, बोल्टन द्वारा ट्रम्प पर लगाए गए आरोप ने आलोचकों के लिए नया गोला बारूद मुहैया करवाया है।

 

0 comments

Leave a Reply