ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस और आयूष विभाग दिल्ली सरकार ने अबुल-फ़ज़ल एनक्लेव मैं मुफ़्त यूनानी मेडिकल कैंप लगाया

'यूनानी उपचार जनता के द्वार मिशन 2025‘

 

नई दिल्ली : ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस और आयूष विभाग  दिल्ली के साझा प्रयास से  अबु-अल-फ़ज़ल एनक्लेव, ओखला में मुफ़्त यूनानी मैडीकल कैंप लगाया गया। प्रोग्राम के मुख्य अतिथि  प्रोफ़ैसर मुहम्मद इदरीस पूर्व  प्रिंसिपल आयूर्वेद ऐंड यूनानी तबीह कॉलेज, क़रोल-बाग़ थे। इस मौक़ा पर उन्होंने कहा कि यूनानी तरीक़ा-ए-इलाज सदियों से जारी  है और हर किस्म की बीमारीयों का इस में ईलाज मौजूद है, यहां तक कि कोविड 19 में भी यूनानी तरीक़ा-ए-इलाज काफ़ी कामयाब रहा है और इस सिलसिले में मज़ीद तहक़ीक़ात जारी हैं।

 

कैंप को  आयोजित करने में  ओखला कैमिस्ट ऐंड  Distributers  अलाउंस और इंस्टीटियूट आफ़ डरबक् योगा ऐंड क्लीनिक आफ़ आयूष पैरा मैडीसन नई दिल्ली ने  भाग लिया  ,इसका आयोजन 'यूनानी उपचार जनता के द्वार मिशन2025‘ के तहत किया गया था .

प्रोफ़ैसर मुहम्मद इदरीस ने  कहा कि तिब्ब यूनानी में  ईलाज बिल  गिज़ा पर ख़ासी तवज्जा दी जाती है जिसके नतीजे में इन्सान की इमुनिटी  बेहतर हालत में रहती है और बहुत सी  बीमारीयों से  हिफ़ाज़त भी होती है।

 

तिहाड़ जेल के चीफ़ मैडीकल ऑफीसर (यूनानी डाक्टर हबीबउल्लाह ने कहा कि इतना बड़ा कैंप  पहला कैंप है। इस में 400 से अधिक मरीज़ों ने अपना मुफ़्त चैक अप कराया  और उन्हें मुफ़्त दवाएं भी दी गईं।

डाक्टर ज़की उद्दीन पूर्व  डिप्टी डायरैक्टर, CCRUM ने कहा कि यूनानी  में अवाम का भरोसा है, उसे आम करने की ज़रूरत है ख़ुशी  है कि ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस ने अपने मिशन का हिस्सा बनाया।

 

उन्होंने ये भी कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों  की जानिब से जो सहयोग  मिल रहा है इस में और  की ज़रूरत है। डाक्टर बदर उल-इस्लाम कैरानवी ने कहा कि दरअसल तिब्ब यूनानी में सदियों  से जिस्मानी फिटनेस के लिए  वरज़िश राइज है मगर अफ़सोस कि मौजूदा  हकीमों ने इस जानिब कम तवज्जा की और योगा के नाम से उसे मशहूर कर दिया गया है, जबकि तिब्बी वरज़िश ही योगा का दूसरा नाम है

 
इस कैंप में डाक्टर सय्यद अहमद ख़ां, डाक्टर मुहम्मद सलीम सिद्दीक़ी, डाक्टर शहनाज़ प्रवीण, डाक्टर मुहम्मद अरशद ग़ियास, डाक्टर अलताफ़ अहमद, डाक्टर सय्यद जुनैद आरिफ़, डाक्टर अर्जुमंद फ़िरोज़, डाक्टर नीतू शर्मा, डाक्टर इसमाइसीफ़ी, डाक्टर ऐम सईद, हकीम उज़ैर बक़ाई, हकीम अता-उर-रहिमान अजमली, हकीम मुहम्मद मुर्तज़ा देहलवी, हकीम सलाह उद्दीन हुस्न पूरी, मक़बूल हसन, डाक्टर मुनव्वर हसन कमाल, मुहम्मद ख़लील (साइंटिस्ट), मुन्ने भारती, जावेद अख़तर, फ़ारूक़ सलीम, मुहम्मद ख़लील , अतहर अज़ीज़ आज़मी, मुहम्मद इमरान कनोजी, मबसूस अहमद, अशरफ  अली बस्तवी,मुहम्मद उवैस, अबदुर्रशीद आज़मी, हकीम आबिद हसन, हकीम मुहम्मद सादिक़, हकीम मुहम्मद शाज़ान, तनवीर आलम, वाहिद अख़तर, मुशर्रफ़ हुसैन, कफ़ील किरमानी, सलमान, मुहम्मद आसिफ़ परवेज़, सय्यद सुहेल अली वग़ैरा ने  ख़िदमात पेश कीं जबकि कैंप में असल नेचुरल  हनी, लिम्रा   रेमेडीज़, बक़ाई दवाख़ाना, स्काई हर्बल, ए ऐंड ऐस फार्मेसी और रज़ा मेडीकोज़ वग़ैरा की जानिब से मुफ़्त में दवाएं दी गईं। आख़िर में ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस फार्मेसी विंग के नैशनल सैक्रेटरी और प्रोग्राम के कन्वीनर मक्का मेडिकोज के मालिक  नईम रज़ा ने तमाम मेहमानों का शुक्रिया अदा किया.



0 comments

Leave a Reply