बलरामपुर कोतवाली गैसड़ी अंतर्गत ग्राम मझौली निवासी एक 22 वर्षीय आदिवासी युवती के साथ दुष्कर्म

 

बलरामपुर  (एशिया टाइम्स / सग़ीर ए ख़ाकसार) हाथरस में हुई जघन्य गैंग रेप की घटना को लेकर लोगों का गुस्सा अभी शांत भी नही हुआ था कि बलरामपुर के कोतवाली गैसड़ी अंतर्गत  ग्राम मझौली निवासी एक 22 वर्षीय आदिवासी युवती के साथ गैंग रेप की  बर्बर घटना ने लोगों को हिला कर रख दिया है।इस संबंध में पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है।बुधवार देर रात पुलिस ने लड़की का अंतिम संस्कार करा दिया।

 आज सुबह एसपी, डीएम और तुलसीपुर देवीपाटन मन्दिर के महंत ने पीड़िता के घर पहुंचकर परिजनों से बातचीत की ।इसके अलावा विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि भी पीड़िता के परिजनों से मिले।

घटना के सम्बंध में मिली जानकारी के मुताबिक युवती 29 सितंबर को  सुबह करीब 10 बजे घर सेे वीकाम मे एडमीशन कराने के लिए पचपेड़वा कस्बा स्थित एक कॉलेज में  गई थी।
करीब सांय 4 बजे तक वह घर वापस नही लौटी  तो  परिजनों ने युवती को फोन मिलाया लेकिन रिसीब न होने की दशा मे परिजनों मे सनसनी मच गई । रात्रि करीब 8 बजे युवती एक रिक्शा से  घर पहुंची।उसकी हालत काफी खराब थी ,वह ठीक से बोल भी नही पा रही थी।

रोते बिलखते घर पहुंची युवती पेट मे अधिक दर्द होने की बात कहकर कराह रही थी ।उसके हाथ मे ग्लूकोज की ड्रिप भी लगी थी।गंभीर हालात में परिजन उसे इलाज के लिए तुलसीपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जा रहे थे कि लड़की ने रास्ते मे ही दम तोड़ दिया।

लड़की की माँ का साफ साफ आरोप है कि उसके साथ गैंगरेप किया गया है और उसे नशीली इंजेक्शन दिया गया था।लड़की के पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में गैंग रेप की पुष्टि हुई है।पुलिस का कहना है कि हाथ पैर तोड़ने और कमर तोड़ने के पुष्टि पोस्टमार्टम में नही हुई है।
लड़की के भाई की तहरीर पर गैंग रेप व हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।मामले की छानबीन पुलिस टीम कर रही है।घटना की गंभीरता को देखते हुए आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है।

0 comments

Leave a Reply