किम ने ट्रम्प को चिट्ठी लिखी, दोबारा बातचीत की जताई इच्छा

Ashraf Ali Bastavi

वॉशिंगटन.    उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने ट्रम्प से दूसरी बार मुलाकात करने की इच्छा जाहिर की है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने जानकारी देते हुए कहा कि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन भी किम से बातचीत की संभावनाएं तलाश रहा है। इससे पहले दोनों नेताओं की 12 जून को सिंगापुर में मुलाकात हुई थी। पहली बातचीत की आलोचना भी हुई क्योंकि ये साफ नहीं हुआ था कि किम कब तक अपने परमाणु हथियार खत्म कर देगा।

ट्रम्प और किम की दूसरी मुलाकात कब होगी, यह साफ नहीं है। न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा की सालाना बैठक के इतर यह मौका मिल सकता है। ट्रम्प के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) जॉन बोल्टन का मानते हैं किम महासभा की बैठक में नहीं आएंगे।

परमाणु हथियार खत्म करना चाहते हैं ट्रम्प : सैंडर्स ने कहा कि किम का पत्र गर्मजोशी से भरा हुआ और सकारात्मक है। उन्होंने राष्ट्रपति से दोबारा मिलने की इच्छा जाहिर की है। पत्र से साफ है कि किम परमाणु हथियारों को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। सैंडर्स यह भी कहती हैं कि रविवार को उत्तर कोरिया में हुई परेड में किम ने लंबी दूरी की मिसाइलों का भी प्रदर्शन नहीं किया। वॉशिंगटन और प्योंगयांग के बीच विश्वास बढ़ाने के लिए यह अच्छा कदम है।

उत्तर कोरिया भरोसा बढ़ा रहा है : वॉशिंगटन के एक थिंक टैंक सेंटर फॉर नेशनल इंटरेस्ट के डायरेक्टर हैरी कजियानिस के मुताबिक- अगर ट्रम्प, किम से दूसरी मुलाकात की कोशिश कर रहे हैं तो वह सही दिशा में हैं। ट्रम्प अपने कार्यकाल के अंत तक उत्तर कोरिया से परमाणु हथियार खत्म करा लेते हैं तो ये उपलब्धि होगी। कजियानिस यह भी कहते हैं कि उत्तर कोरिया ने अपनी 70वीं सालगिरह में एक भी लंबी दूरी की मिसाइल का प्रदर्शन नहीं किया। इससे भरोसा पैदा होता है। 12 जून को दोनों नेताओं के बीच 90 मिनट बातचीत हुई थी। इसमें ट्रम्प ने किम को पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए राजी कर लिया। बदले में अमेरिकी ने उसे सुरक्षा का भरोसा दिया। इसके लिए दोनों नेताओं ने एक करार पर हस्ताक्षर किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *