पाकिस्तान की ज़ैनब के नाम ख़त

मेरी भांजी! अज़ीज़ अज़ जान प्यारी गुड़िया ज़ैनब! नेक तमन्नाएं! ये लिखते लिखते रुक गया कि तुम्हारी तमन्नाओं का किस

Read more