सबका साथ-सबका विकास नारे की सार्थकता के लिए अल्पसंख्कों का उत्थान ज़रूरी – सिंघी

मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी परिसर में विद्यार्थियों से संवाद और आम जन  जनसुनवाई

admin

जोधपुर 21 नवम्बर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दृढ संकल्प वाले व्यक्ति है और उनका मानना है कि भारत को श्रेष्ठ व समृद्ध बनाने के लिए सभी समुदायों का योगदान ज़रूरी है। ये कहना है, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के माननीय सदस्य सुनील सिंघी का। वे मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के अधीन संचालित गंगाणा रोड बुझावड स्थित मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी में मंगलवार को आयोजित ‘संवाद एवं जनसुनवाई कार्यक्रम‘ में बतौर मुख्य वक्ता बोल रहे थे।
सुनील सिंघी ने केन्द्र एवं राज्य सरकार की ओर से अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए चलाई जा रही योजनाओं  की जानकारी देते हुए कहा कि मुस्लिम समुदाय में शिक्षा व रोजगार से जुड़ी जो भी समस्याएं है उनके समाधान के लिए केन्द्र सरकार को तथ्यात्मक रिपोर्ट सौंपेगे और उनके समाधान के लिए अपने स्तर पर यथा सम्भव प्रयास करेंगे।
उन्होंने ये भी कहा कि जैन, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी आदि अल्पसंख्यक समुदायों की समस्याएं भी समान है। मैं स्वंय जैन समुदाय से सम्बद्ध रखता हूं इस नाते इन सभी समुदायों की पीड़ा को मैंने बहुत करीब से महसूस किया है।
मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी के अवलोकन पश्चात् अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सेासायटी ने जिस भावना से इस संस्थान को खड़ा किया है। इसकी जितनी सराहना की जाये कम है। उन्होंने आशा जताई कि इस सोसायटी की ओर से चलाई जा रही अन्य शिक्षण एवं कल्याणकारी संस्थाएं अल्पसंख्यक समुदाय के शैक्षणिक उत्थान में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगी। उन्होंने सोसायटी की इस बात के लिए भी सराहना की, की सीमित बजट में जिस प्रकार इन्होंने इन संस्थाओं को स्थापित किया है वो अपने आप में अद्वितीय उदाहरण है।
सोसायटी के महासचिव मोहम्मद अतीक ने मौलाना आज़ाद यूनिवर्सिटी के नये परिसर के निर्माण के बारें मे जानकारी दी और आग्रह किया कि वे इस संस्थान को अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए सरकारी स्तर पर हर सम्भव सहायता उपलब्ध करायें। लेखक-पत्रकार सलीम खिलजी ने मुस्लिम समाज की समस्याओं की तरफ ध्यान आकर्षित कराया। खिलजी ने अपने सम्बोधन में भारतीय जनता पार्टी के वर्ष 2013-14 के चुनावी घोषणा पत्र में अल्पसंख्यकों के उत्थान के सम्बन्ध में किये गये वादों की याद दिलायी और उस घोषणा पत्र की प्रति सौंपते हुए आग्रह किया कि इस पर तुरन्त अमल किया जाए।
अपने आभार उद्बोधन में राजस्थान वक्फबोर्ड के पूर्व चेयरमेन शोकत अंसारी ने सुनील सिंघी को कर्मठ कार्यकर्ता बताते हुए उम्मीद जताई कि वे समाज के उत्थान के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगें। अंत में सोसायटी की ओर से चलायी जा रही देश की पहली मुस्लिम गौशाला ‘मारवाड़ मुस्लिम आदर्श गौशाला‘ का भी उन्होंने अवलोकन किया और बेजुबान गायों को अपने हाथों से चारा खिलाया। साथ ही मुस्लिमों की ओर से गौसेवा के इस कार्य को अनूठा और प्रेरणादायी बताया। इस मौके पर आयोजित जनसुनवाई में विभिन्न समुदायो के लोगों ने अपने ज्ञापन सौंपे और संवाद कार्यक्रम में विद्यार्थियों से संवाद किया।
यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार इमरान खान पठान ने कहा कि समारोह में सिरोही जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी हनीफ खान, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी प्रमोद कुमार कल्ला, कार्यक्रम अधिकारी मोहम्मद युनूस खान, सोसायटी के वरिष्ठ सदस्य हाजी अबादुल्लाह कुरैषी, शब्बीर अहमद खिलजी, मोहम्मद ईस्माइल, हनीफ लोहानी, रऊफ अंसारी, निसार खिलजी, फिरोज अहमद काजी, जकी अहमद, तय्यब अंसारी, मोहम्म्मद रफीक, नईम सिलावट, अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधि, यूनिवर्सिटी के शिक्षकगण, विद्यार्थीगण सहित प्रदेश भर से आमजन ने शिर्कत की। संचालन प्रोग्राम डायरेक्टर मोहम्मद अमीन ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *