पंखों में अपनी कला से नई जान भर्ती आफरीन खान

Awais Ahmad

एक ऐसा कलाकार जो अपने समय के मानक तोड़ता है। मुकाम अर्जित कर सबका शीर्ष बन जाता है। अपनी लगन और मेहनत के दम पर कुछ कर गुजरने की चाह रखने वाली एक आर्टिस्ट जिसने अपनी फाइन आर्ट्स की पढ़ाई के दिनों में हीं अपना एक अलग मुकाम बनाया है। हम बात कर रहे है रामपुर की आफरीन खान की जिन्होंने बहुत ही कम समय मे अंतराष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय आर्ट गैलरी में अपनी चित्रकारी को प्रदर्शित कर साबित किया की वह अपने साथ के चित्रकारों से काफी आगे है।

आफरीन खान चिड़ियों के पंख पर चित्रकारी (feather Painting) करती है। जिनमे मोर, चील, गौरैया, कबूतर के अलवाह और बहुत से पक्षियों के पंखों पर हिंदुस्तान की मशहूर शख्सियतों से लेकर जानवरों और पक्षियों की तस्वीरों को पेंटिंग करती है। मौलाना आज़ाद, सर सय्यद अहमद खान, प्रेम चंद, ग़ालिब, मलाला यूसुफजई, कल्पना चावला, मदर टेरेसा, आज़म खान, मुख्तार अब्बास नकवी, उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाईक के अलवाह कई मशहूर शख्सियतों की तस्वीर चिड़ियों के पंखों पर बनाई है।

मकतब ए जामिया की साइंस की किताब में चित्रण का काम भी किया है, इसके अलवाह दो कहानी किताबों में भी चित्रण का काम किया है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में के म्यूज़ियम में आफरीन खान की बनाई हुई सर सैयद अहमद खान की  पेंटिंग feather Painting लगी हुई है। इसके साथ ही आफरीन खान की बनाई हुई नवाब रज़ा अली खान की पेंटिंग रामपुर के रज़ा लाइब्रेरी लगी हुई है।

आफरीन खान ने बताया कि रामपुर रज़ा लाइब्रेरी द्वारा आफरीन खान ने बताया कि प्रकाशित राजभाषा पत्रिका के प्रेमचंद के विशेषांक में प्रेम चंद्र की कलाकृति को वाटर मार्क के तौर पर पत्रिका के हर पन्ने पर इस्तेमाल किया गया है। जो मेरे लिए सम्मान की बात है। इस पत्रिका का अनावरण उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाईक ने किया था।

आफरीन खान ने अमेरिकन एम्बेसी में महिलाओं के शक्तिकरण के लिए लगी आर्ट एक्सिबिशन में भी अपनी कला का प्रदर्शन किया है। इसके अलवाह गांधी आर्ट गैलरी, जश्न आए आदाब, जश्न ए रेख्ता, जैसे समारोह में भी अपनी कला का प्रदर्शन किया है। जयपुर अंतरराष्ट्रीय आर्ट समिट, IACF जयपुर जवाहर कला केंद्र, एम एफ हुसैन आर्ट गैलरी,अन्तर्राष्ट्री आर्ट फेस्टिवल अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, मोइनुद्दीन आर्ट गैलरी में भी आफरीन खान ने अपनी चित्रकारी को प्रदर्शित किया है। इसके साथ ही आफरीन खान मल्टीनेशनल कंपनियों के लोगो की चित्रकारी करती है। एएमयू में एक वर्कशॉप भी स्टार्ट करने वाली है।

आफरीन खान ने बताया कि उन्होंने भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तस्वीर को अपनी चित्रकारी भेंट करने वाली थी लेकिन प्रोटोकॉल के हिसाब से दो मिनट देरी हो जाने की वजह से वह पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अपनी चित्रकारी भेंट नही कर पाई जिसका उनको अफसोस है और भविष्य में अगर मौका मिला तो वह प्रणब मुखर्जी अपनी चित्रकारी भेंट करेंगी।

आफरीन खान ने बताया कि उनसे  मल्टीनेशनल कंपनियां अपने लोगो(Logo) की feather Painting कराने के लिए संपर्क करते है। आफरीन खान ने कहा कि भविष्य में वह भारत से सभी पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व राष्ट्रपतियों के आलावह स्वतंत्रता सेनानियों की भी चित्रकारी करेंगी। देश भर में इस कला को बढ़ाने के लिए वर्कशॉप का बजी आयोजन करेंगी। आफरीन खान की कला के प्रति लगन एयर मेहनत को देख कर लगता है कि वह भारत की अगली पाब्लो पिकासो बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *