सरकार किसी का भरोसा नहीं तोड़ेगी/एम जे खान

Ashraf Ali Bastavi

नई दिल्ली : (एशिया टाइम्स ) गृह मंत्रालय की फाउंडेशन फॉर कम्युनल हारमोनी के सदस्य डॉक्टर एम जे खान ने बीते दिनों देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई फाउंडेशन फॉर कम्युनल हारमोनी की मीटिंग के बारे में आज नई दिल्ली में मीडिया से बातचीत में बताया कि सरकार राष्ट्रीय सद्भाव को आगे बढ़ाने और उसमें मजीद बेहतरीन लाने की दिशा में तेजी से कार्यरत है.
इस मौक़े पर उन्होंने ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि बीते दिनों देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में फाउंडेशन फॉर कम्युनल हारमोनी की एक अहम बैठक हुई जिसमें सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी उपस्थित थीं, जब कि मिनिस्टर फार सोशल जस्टिस और मानव संसाधन विकास मंत्री के साथ कई विभागों के सचिव इस के सदस्य हैं. उन्हों ने बताया कि मीटिंग में कई वरिष्ठ मंत्री, कई धर्मों के धर्मगुरु समाज सेवी और राष्ट्रीय एकता के लिए काम करने वाले लोग उपस्थित थे, जिसमें मौलाना महमूद मदनी ने भी मीटिंग में हिस्सा लिया.
  डॉक्टर खान ने बताया कि मीटिंग में हम ने देश की सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी से आग्रह किया कि मीडिया की एकतरफा रिपोर्टिंग के बारे में नोटिस लें क्योंकि समाज को बनाने में मीडिया का एक अहम रोल है. डॉक्टर खान ने बताया कि मीटिंग के बाद हमने 7 बिंदुओं पर आधारित एक नोट भी सरकार को सौंपा है और हमें आशा है कि सरकार उस पर जरूर ध्यान देगी. उन्होंने बताया कि हमारी कोशिश है कि राष्ट्रीय सद्भाव को बनाए रखने के लिए देश के कॉलेजों में लेक्चर सीरीज का आयोजन हो और इसमें अलग-अलग धर्मों के धर्म गुरु और समाजसेवी उपस्थित हिस्सा लें, जिससे आपस में एक दूसरे को जानने और समझने का मौका मिले.
डॉक्टर खान ने बताया कि हमारी कोशिश है कि देश के युवाओं को भी इस मुहीम से जोड़ा जाए और सरकार उन के लिए जो स्कीम चला रही है उस से उन को अवगत कराया जाए. डॉक्टर खान ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि सरकार की यह कोशिश है कि आपसी सद्भाव को बिगड़ने से बचाया जाए. उन्हों ने अल्पसंख्यकों से अपील की कि वह समाज में अपने एक बड़े रोल के लिए आगे आएं, ताकि समाज को उनको समझने में आसानी हो. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को ज्यादा दिनों तक या ज्यादा लोगों को थोड़े दिनों तक ही बेवकूफ तो बनाया जा सकता है, लेकिन हमेशा के लिए किसी को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है. उन्हों ने कहा कि हमें समाज के लिए खुद को वक्फ़ करना होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का स्वच्छ भारत मिशन हो या बीते दिनों प्रधानमंत्री ने जिस तरह से पैगंबर मोहम्मद के उद्देश्यों पर चलने की बात कही है उसको बड़े पर्दे पर देखने की जरूरत है.
हमें बारीकी से गौर करना होगा कि किस तरह से पैगंबर मोहम्मद ने दूसरों के लिए खुद को वक्फ़ किया और हमेशा दूसरों के काम आए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के उस बयान पर भी हमें ध्यान देना होगा जिसमें उन्होंने रमजान को दूसरों के भूख के एहसास से जोड़ने की कोशिश की है. उन्होंने कहा कि हमें दूसरों की परेशानियों को समझना होगा और दूसरों के लिए खुद को पेश करना होगा तभी दूसरे हमारे लिए मुफीद बन सकते हैं.
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अगर डिस्ट्रॉय का एजेंडा सरकार नहीं कुचलेगी, तो डेवलपमेंट का एजेंडा आगे नहीं बढ़ सकता इसलिए सरकार बर्बाद करने वाले सभी एजंडों को कुचल कर आगे बढ़ना चाहती है. प्रधानमंत्री मोदी ने जिस तरह से उदारवादी छवि पूरी दुनिया में अपनी और भारत की पेश की है वह एक ऐतिहासिक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है. हम आशा करते हैं कि आने वाले दिनों में और बेहतरी आएगी.
डॉक्टर खान ने कहा कि सरकार की यह कोशिश है कि ट्रस्ट के माहौल को आगे बढ़ाया जाए. उन्होंने कहा कि पी.एम. का पूरा फोकस दुनिया में हिंदुस्तान की इमेज को आगे बढ़ाना और शांति के माहौल को एक बड़े पर्दे पर लाना है. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वक्त और जिम्मेदारियों के साथ इंसान की छवि में काफी बदलाव आता है. उन्होंने कहा कि वक्त के हिसाब से प्रधानमंत्री ने दुनिया में भारत के आउटलुक, नजरिए और इमेज को और बेहतर बनाया है, जिस से भारत की छवि और बेहतर हुई है जिसका हमें स्वागत करना चाहिए

    Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/asiatimes/public_html/urdukhabrein/wp-content/themes/colormag/content-single.php on line 85

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *