सफ़ेद नमक की चादर ओढ़े रेगिस्तान… जिसे दुनिया कच्छ कहती है

Positive 2 की #KnowAboutMuslimAreas सीरीज़ की दसवीं कड़ी: कच्छ #Kutch

Ansar Imran SR

Positive 2:- दूर दूर हजारों किलोमीटर में फैला हुआ सफ़ेद नमक और कुछ इलाके छोड़ कर मीलों दूर तक कोई इंसानी बस्ती नहीं ऐसे ही एक जगह जिसे पूरी दुनिया कच्छ के नाम से जानती है| इसे गुजरात का सफ़ेद रेगिस्तान भी कहा जाता है जहाँ साल के तीन महीने तक विश्व प्रसिद्ध मेला “कच्छ रण उत्सव” होता है जिसमें दुनिया भर से सैलानी घुमने आते है|

जितने एरिया में दुनिया के कई देश है उससे भी ज्यादा एरिया गुजरात के इस जिले का है| 45,674 sq km के विशाल एरिया में फैला हुआ यह जिला तक़रीबन 21 लाख लोगों का घर है जिसमें से लगभग एक चौथाई आबादी मुस्लिम है|

भारत का सबसे बड़ा जिला कच्छ अपने एक अलग ही कल्चर के लिए मशहूर है| कच्छ में मौसम का यह हाल है कि गर्मी पड़ती है तो 50 डिग्री के पार और सर्दी पड़ती है तो माइनस में|

पूरी विडियो यहाँ देखें:

कारोबार के मामले में कच्छ अपनी लोकेशन और भूगोल की वजह से बहुत पिछड़ा हुआ है फिर भी अपने नमक, टेक्सटाइल आर्ट और मिनरल्स के लिए मशहूर है|

कच्छ में रहने वाले ज्यादातर मुसलमान गरीबी के आलम में रहते है| तालीम का हाल भी इतना बुरा है कि उसे बयाँ नहीं किया जा सकता है खास तौर पर लड़कीयों का| कच्छ की कुदरती खूबसूरती को गुजरात सरकार और बॉलीवुड ने खूब इस्तेमाल किया और फायेदा भी उठाया मगर इससे कच्छ के लोगों को क्या फायदा मिला ये खुदा भी नहीं जानता…..

बाकी सब खैरियत है!!!

Ansar Imran SR

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *