केरल: अब तक  357 लोगों की मौत , 10 जिलों में ऑरेंज अलर्ट; मुसीबत की इस घडी में देश दे केरल का साथ

Ashraf Ali Bastavi

Asia Times

तिरुअनंतपुरम.  केरल में रविवार को बाढ़ और बारिश से थोड़ी राहत मिली। मौसम विभाग ने रेड अलर्ट वापस लेकर 10 जिलों में ऑरेंज और दो में यलो अलर्ट जारी किया। 8 अगस्त से भारी बारिश, भूस्खलन और बाढ़ में 194 लोगों की मौत हो चुकी है। शनिवार को 33 और शव मिले। इनमें से 15 शव बाढ़ के पानी में बहते मिले। न्यूज एजेंसी ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि केरल में करीब 21000 करोड़ रुपए की संपत्ति को नुकसान हुआ है।

केरल 94 साल की सबसे भीषण बाढ़ का सामना कर रहा है। भारी बारिश वाले एर्नाकुलम जिले में 54,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। कोच्चि के पास श्री शंकराचार्य यूनिवर्सिटी कैंपस की एक इमारत में दो दिनों से फंसे 600 से ज्यादा स्टूडेंट्स को शनिवार को निकाल लिया गया। अलुवा, चलाकुडी, अलप्पुझा, चेंगन्नूर और पथनामथित्ता जैसे इलाके बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

 अब तक  357 लोगों की मौत: राज्य में भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में मई से अब तक 357 लोगों की मौत हो चुकी है। लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाने और खाने के अलावा राहत सामग्रियों के वितरण के लिए 67 हेलिकॉप्टर, 24 एयरक्राफ्ट और 548 मोटरबोट्स को तैनात किया गया है।

1) अब तक 3.55 लाख लोग बेघर हो गए हैं।

2)  लोगों को 3026 राहत शिविरों में रखा गया है।

3)  करीब 40,000 एकड़ में फसलें नष्ट हो चुकी हैं।

4) राज्य के 134 ब्रिज और 96 हजार किमी लंबी रोड पूरी तरह बर्बाद हो चुकी हैं। इनमें पीडब्ल्यूडी और सभी स्थानीय सड़कें शामिल हैं।

5)  करीब 1000 मकान पूरी तरह और 26,000 मकान आंशिक रूप से टूट गए।

6) सेना की 16, नाैसेना की 28 और एनडीआरएफ की 58 टीम राहत-बचाव कार्य में जुटी हैं।

राहुल ने कहा- प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा घोषित करें: शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। उन्होंने राज्य को 500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त मदद देने का एेलान किया। पहले 100 करोड़ की मदद दी गई थी। आपदा में मारे गए लोगों के परिजन को केंद्र की तरफ से 2-2 लाख रुपए दिए जाएंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र के इस फैसले का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा- ” केरल में लोगों की जिंदगी दांव पर लगी। बिना देरी के इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए।”

केरल में पेयजल संकट गहराया : भीषण आपदा के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी आ गई। यातायात ठप होने से ज्यादातर पेट्रोल पंप सूखे पड़े हैं। कई इलाकों में पेयजल संकट गहरा गया है। दक्षिण रेलवे तमिलनाडु से पीने के पानी के कई वैगन भेज रहा है। महिला और बाल विकास विभाग ने खाने के पैकेट भेजे हैं। उधर, बाढ़ के कारण कोच्चि एयरपोर्ट बंद है। एअर इंडिया ने कोच्चि की अपनी विमान सेवाओं को तिरुवनंतपुरम से शुरू किया। शुक्रवार को राज्य से गुजरने वाली या चलने वाली 35 ट्रेनों को रद्द किया गया।सिविल एविएशन मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर बताया- “बेंगलुरु और कोच्चि नौसेना एयरबेस के बीच फ्लाइट ऑपरेशन 20 अगस्त की सुबह से शुरू होगा।” कोच्चि में पेरियार नदी में बाढ़ आने से यहां के एयरपोर्ट परिसर में पानी भर गया, जिससे फ्लाइट्स ऑपरेशन बंद है।

कई राज्य मदद के लिए आगे आए : मुख्यमंत्री विजयन ने ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री राहत कोष का बैंक खाता नंबर शेयर कर लोगों से मदद की अपील की। वरुण धवन, अनुष्का शर्मा और अभिषेक बच्चन समेत कई कलाकारों ने इसे शेयर किया और लोगों से मदद के लिए आगे आने को कहा। तेलंगाना सरकार ने 25 करोड़, महाराष्ट्र ने 20, उत्तरप्रदेश ने 15, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, बिहार, गुजरात, आंध्रप्रदेश ने 10-10 और ओडिशा, झारखंड और हिमाचल ने 5-5 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान किया। एसबीआई ने भी केरल को दो करोड़ की मदद दी है। आम आदमी पार्टी के सभी सांसद और विधायकों ने एक महीने की सैलरी बाढ़ पीड़ितों को दान की।

कर्नाटक के छह जिले बाढ़ की चपेट में कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़, उडुपी, चिकमंगलुरू, कोडगू, हासन का कुछ हिस्सा बाढ़ की चपेट में हैं। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बताया कि कोडगू जिले में बाढ़-बारिश से छह लोगों को मौत हुई। 11 हजार घरों को नुकसान पहुंचा है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में सेना और एनडीआरएफ के एक हजार जवान राहत कार्य में जुटे हुए हैं। वायुसेना ने बाढ़ में फंसे 873 लोगों को 17 राहत शिविरों में पहुंचाया। कर्नाटक के 16 अन्य जिले सूखे की चपेट में हैं। केरल और कर्नाटक में बारिश से आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में कावेरी और गोदावरी सहित अन्य नदियां उफान पर हैं। तटीय गांवों में बाढ़ का पानी भर गया

Asia Timesहै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *