समाज सुधार में युवा वर्ग की अहम भूमिका -अब्दुल वदूद

Ashraf Ali Bastavi

सेमारियावां।जामिया उमामा लिलबनात अल इस्लामिया सेमारियावां के प्रांगण में इतवार की रात शानदार समाज सुधार कांफ्रेंस का आयोजन किया गया।इस कांफ्रेंस में विश्व प्रसिद्ध इस्लामी यूनिवर्सिटी नदवतुल उलमा लखनऊ के धार्मिक विद्वानों ने भाग लिया ।कांफ्रेंस में शिक्षा के महत्व ,हिन्दू मुस्लिम एकता ,प्रेम मुहब्बत बन्धुत्व ,सादगी के साथ शादी,नशा उन्मूलन ,स्त्री का समाज में सम्मान ,युवा वर्ग की जिम्मेदारी और बिना भेदभाव के पड़ोसी की मदद आदि विन्दुओं पर वक्ताओं ने अपने अपने विचार रखे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता मशहूर लेखक इस्लामी स्कॉलर मौलाना सय्यद महमुदुल हसन हसनी नदवी तथा संचालन गुफरान अहमद नदवी नेकिया।

मख्य अतिथि मौलाना महमुदुल हसन नदवी ने समाज सुधार कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि अल्लाह की जमीन पर अकड़ कर मत चलो ।अल्लाह को क्या पसन्द है वही काम करो।जो नापसन्द है उसे हरगिज न करो।बेहतर समाज के निर्माण में जितना भूमिका पुरुष की है उससे कही अधिक भूमिका महिलाओं की होती है।पति पत्नी एक गाड़ी के दो पहिया के सामान है।बिना पत्नी के सहयोग के पति सफलता अर्जित नही कर सकता।बच्चों की शिक्षा दीक्षा में माँ की अहम भूमिका होती है।माता पिता के आदर से समाज में सम्मान मिलेगा।शिक्षित महिला से ही अच्छे समाज का निर्माण होगा।

समाज सुधार कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए मौलाना मो कौसर नदवी ने कहा कि सभी को शिक्षा हासिल करने का हक हासिल है।अल्पसंख्यक तालीमी लिहाज से दलितों से पीछे है।जबकि इस्लाम धर्म में महिला पुरुष दोनों को शिक्षा दीक्षा हासिल करने का अधिकार हासिल है।आज की नई शिक्षा पद्धति ने बच्चों का बचपन छीन लिया है।माँ की गोद बच्चे का पहला मदरसा है।माँ पढ़ी लिखी होगी तो बच्चे की तरबियत अच्छे ढंग से होगी।

बहू नेक होगी तो बच्चे भी नेक औरसमाज के लिएआदर्श होंगे।

लखनऊ से पधारे मौलाना अब्दुल वदूद नदवी ने कहा कि मुसलमानों के पिछड़ेपन के जिम्मेदार कोई अन्य नही बल्कि स्वयं जिम्मेदार और दोषी हैं।तरक्की विकास के लिए खुद आगे बढ़ना पड़ेगा ।कोताही कदापि न करें।निरन्तर प्रयास जारी रखें।युवा वर्ग को कहा कि आप तो समाज सुधार में अहम भूमिका अदा कर सकते हो ।समाज में आपका स्थान रीढ़ की हड्डीके सामान है।समाज में प्रेम मुहब्बत बन्धुत्व का माहौल बनाये।पाश्चात्य संस्कृत शादी विवाह में बढ़ रही फुजूल खर्ची शराब नोशी नशा खोरी से बचे।इस्लाम धर्म के प्रवर्तक मोहम्मद साहब हमारे रोलमाडल है।उनकी दी गई शिक्षा पर अमल करें।अपने दीन और ईमान को महफूज रखें।

जामिया उमामा लिलबनात अल इस्लामिया सेमारियावां के डॉयरेक्टर मौलाना कफील अहमद नदवी ने निस्वां क्लेजकी उपलब्धि बताते हुए कहा कि 15 साल में 150 से अधिक छात्राओं ने सनद हासिल कर समाज के नव निर्माण में लगी हुई हैं।इस शिक्षण संस्थान को स्व हाफिज इम्तियाज़ अहड़ने अपने खून पसीने से सींचा था।जो सब छाया दर वृक्ष बन गया है ।कांफ्रेंस को मो अहमद जिला पंचायत सदस्य ने भी सम्बोधित किया।

इस कांफ्रेंस में मौलाना मुनीर अहमद नदवी मुजीब बस्तवी अल्लामा मो उमर मश हूर आलम चौधरी मो अहमद शोएब अहमद नदवी मखमूर नबी खान मो मोकर्र्म फैजान अहमद फ़ुजैल अहमद नदवी शमशेर अहमद प्रधान अबू बकर मुजिबुल्लाह अबू जफर अब्दुस्सलाम नदवी निसार अहमद नदवी एजाज अहमद करखी फिरोज अहमद चौधरी मुजीबुर्रहमान कासमी अनवार आलम चौधरी मौलाना रिजवान अहमद नदवी मौलाना महमूद अहमद कासमी नदवी मौलाना मो आसिम नदवी मौलाना मो जकी नदवी फैजान अहमद अलीग सुहेल अहमद अलीग जफीर अली करखी आदिसहित क्षेत्र के बहुत से उलमाए कराम छात्र युवा और महिलाएं मौजूद रहीं।


    Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /home/asiatimes/public_html/urdukhabrein/wp-content/themes/colormag/content-single.php on line 85

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *