इंडो अरब सोसायटी चुनाव में, इंडो-अरब सोसायटी बचाओ पैनल की भारी जीत

दोनों पैनल के लोगों ने यह फैसला किया कि अब चुनाव खत्म हो गया है आगे सब मिलकर काम करेंगे और एक दूसरे के लिए कोई रंजिश नहीं रखेंगे

एशिया टाइम्स

मुंबई: 1954 /में बनी इंडो अरब सोसायटी जिसके पहले अध्यक्ष जवाहरलाल नेहरू जैसे दिग्गज महान व्यक्ति रह चुका हो इस इंडो अरब सोसायटी का चुनाव कल समाप्त हो गया। इस चुनाव में डायनामिक पैनल जिसके प्रमुख प्रिंसिपल मोहम्मद सुहैल लोखंडवाला और इंडो अरब सोसायटी बचाओ के प्रमुख डॉ। मुहम्मद अली पाटणकर के नेतृत्व में डायनामिक पैनल में शहर की उच्च हस्तियां जिनमें हसन चौगले, मोहम्मद भाई शीशा, डॉक्टर माचिस वाला, नसीर पठान जैसे लोग थे जबकि इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल में डॉक्टर मोहम्मद अली पाटनकर के अलावा कोई बड़ी हस्ती नहीं थी। प्रतिष्ठा के लिए लड़े जाने वाले इस चुनाव में इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल के सभी उम्मीदवारों ने एक सोची-समझी रणनीति के तहत यह चुनाव लड़ा और लगभग सभी सदस्यों को मिले और भविष्य में इस सोसायटी के माध्यम से और भी अच्छे काम करने पर चर्चा कर के वोट करने की अपील की। कल शाम 6 /बजे से रात में 9 /बजे तक 240 सदस्यों ने वोटिंग की और माना जा रहा था कि डायनामिक पैनल की जीत होगी लेकिन चुनाव परिणाम काफी चौंकाने वाले आए क्योंकि इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल के 3 में से दो उपाध्यक्ष चुने गए और महासचिव, संयुक्त सचिव और खजांची भी इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल के ही चुने गए और साथ ही 12 चुने हुवे सदस्य मैनेजिंग समिति सदस्यों में से 9 सदस्य इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल के जीते और इन परिणामों ने हर कोई को चौंका दिया। डायनामिक पैनल के प्रिंसिपल सोहेल लोखंडवाला पहले ही निर्विरोध जीत गए थे चूंकि डॉ मोहम्मद अली पाटनकर ने अध्यक्ष के चुनाव में अपना नाम वापस ले लिया था और ऐसा लगा था कि सुहैल लोखंडवाला का पैनल पूरी तरह से सफल होगा लेकिन परिणाम इसके विपरीत आया। इंडो अरब सोसायटी बचाव पैनल द्वारा अब्दुल मजीद शेख महासचिव चुने गए उनके साथ नबी अख्तर कुरैशी संयुक्त सचिव और एजाज मास्टर खजांची के रूप में चुने गए। उपाध्यक्ष के ओहदे पर शबीर रंगवाला और शरीफ काजी उपाध्यक्ष के पद पर निर्वाचित हुए। उनके साथ डॉ। माचिसवाला चुने गए। इंडो अरब सोसाइटी बचाओ पैनल के जो ९ /लोग मैनेजिंग समिति में चुने गए उनके नाम शब्बीर सोम जी, अमीन पारेख , भिवंडी वाला हमीदा {अल्लाना } , दीवान जाफर आदम जी, काजी शकील हाशिम, गुलाम मोहम्मद लाखानी, शेख मोहम्मद सलीम (मुन्ना) शेख यूसुफ पंजाबी और एडवोकेट फरजाना शाह हैं वहीं डायनामिक पैनल के जुएब बूटवाला, इमरान मुल्ला और इकबाल मेमन आफीसर चुने गए।

शब्बीर सोमजी तथा इंडो, अरब सोसाइटी बचाओ के सभी उम्मीदवारों ने एक अच्छी योजना के तहत इस चुनाव को लड़ा और सफलता हासिल की। कुछ उम्मीदवार बहुत कम वोटों से जीते थे। अंत में, सभी चुने हुए सदस्यों को हार फूल पेश क्या गया। महासचिव अब्दुल मजीद शेख ने कहा कि वह और उनकी टीम श्री सोहेल लोखंडवाला के साथ मिलकर काम करेंगे और जिस लक्ष्य के लिए यह चुनाव लड़ा गया उसके लिए साथ मिलकर काम करेंगे और जितने मुस्लिम देश हैं उन्हें भी अरब देशों की सूची में दर्ज की जाएगी। अरब और मुस्लिम देशों में रहने वाले भारत के लोगों को जो समस्याएं हैं उसे हर हाल में समाधान किया जाएगा तथा अरब देशों में जो आपसी असहमति चल रही है और जिस तरह से यमन, सीरिया और ईरान में जो हमले हो रहे हैं उन्हें रोकने केलिए हर प्रयास किया जाएगा। और वे अरब देशों की एकता के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। इस दौरान इंडो अरब सोसायटी के महासचिव अब्दुल मजीद शेख ने कहा कि इंडो अरब सोसायटी के पास अभी वर्तमान में मुंबई में कोई कार्यालय नहीं है इसके लिए इंडो अरब सोसायटी सरकार से जगह की मांग करती है और आयकर कार्यालय से 80 जी प्रमाणपत्र करने के लिए इंडो अरब सोसायटी अपने नियमों में बदलाव करके इसे भी प्राप्त किया जाएगा।

आखिर में डॉक्टर मोहम्मद अली पाटनकर ने सेवानिवृत्त ए सी पी शमशेर खान पठान को हार पहना कर उनका आभार व्यक्त किया और कहा कि इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल के लिए उन्होंने सबसे बड़ी भूमिका निभाई है, साथ ही साथ एडवोकेट काजी सैयद महताब हुसैनी का भी आभार व्यक्त किया जिन्होंने इंडो अरब सोसायटी बचाओ पैनल को सफलता दिलाने में काफी मदद की। इस बीच दोनों पैनल के लोगों ने यह फैसला किया कि अब चुनाव खत्म हो गया है आगे सब मिलकर काम करेंगे और एक दूसरे के लिए कोई रंजिश नहीं रखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *