अमेरिका अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर कश्मीर मुद्दे पर भारत को वार्ता के लिए राजी करे: पाकिस्तान

Asia Times Desk

इस्लामाबाद, दो अगस्त (भाषा) पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शुक्रवार को अमेरिका से आग्रह किया कि वह अपने ‘प्रभाव’ का इस्तेमाल कर भारत को कश्मीर मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान के लिए वार्ता करने को ‘राजी’ करें।

कुरैशी का यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप की उस टिप्पणी के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मामला है लेकिन अगर दोनों देश चाहें कि वो मध्यस्थता करें तो वह इसके लिए तैयार हैं।

विदेश मंत्री ने कहा कि भारत बातचीत से परहेज कर रहा है और ऐसा प्रतीत होता है कि वह इस मुद्दे पर वार्ता की इच्छा नहीं रखता है।

उन्होंने ‘जियो न्यूज’ से कहा, ‘‘ भारत जोर देता है कि यह एक द्विपक्षीय मामला है लेकिन वह वार्ता के लिए भी तैयार नहीं है।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘ भारत कश्मीर पर बातचीत करने के लिए आसानी से तैयार नहीं होगा। (हम आग्रह करते हैं) अमेरिका अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर भारत को राजी करे (बातचीत के लिए)।

कुरैशी ने कहा कि वह इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस को भी पत्र लिखेंगे।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की पेशकश खारिज करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अमेरिका को शुक्रवार को यह स्पष्ट किया कि यदि कश्मीर पर किसी वार्ता की आवश्यकता हुई, तो वह केवल पाकिस्तान के साथ होगी और द्विपक्षीय ही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *