26/09/2017


बीफ की आपूर्ति में कमी नहीं आएगी:पर्रिकर

इरफ़ान आलम

 

बीफ की आपूर्ति में कमी नहीं आएगी:पर्रिकर
इरफ़ान आलम
भारतीय जनता पार्टी ने दोहरी मापदंड का काम शुरू कर दिया है। एक तरफ भाजपा गौ रक्षक एवं बजरंग दल को बढ़ावा दे रही है। जो गौ रक्षा के नाम पर सरेआम गुंडागर्दी कर रहे है। तो दूसरी तरफ बीफ आपूर्ति की बात करती है। गोआ के मुख्यमंत्री पर्रिकर ने बयान दिया है कि गोआ में बीफ आपूर्ति में कमी नहीं आने देंगे। एक तरफ बीफ के नाम पर बेकशूर लोगो को मारा जाता है वही भाजपा नेता पर्रिकर बीफ को बढ़ावा दे रहे है। इस बयान को लेकर राजनीती गर्म हो गई है और बिरोधियो को भाजपा पर हमला करने का मौका मिल गया है।
जब से भाजपा सत्ता में आई है तब से कभी गौ रक्षा के नाम पर तो कभी शक के बुनियाद पर न जाने कितने बेकशूर लोगों को मारा गया है। कभी अख़लाक़ को मारा गया तो कभी जुनैद को कभी पहलु खान को। हद तो तब हो जाती है जब भाजपा के नेता या संघी लोग इन गुंडों के बचाव में आ जाते है। भाजपा नेता की बेतुकी बयान भी आग में घी का काम कर रहा है। आए दिन ऐसी घटनाए बढ़ती जा रही है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऐसी घटना पर कभी कोई बयान नही आता है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गौ रक्षक को नसीहत दिया था। लेकिन ये नसीहत भी किसी काम नहीं आया। नसीहत देने के अगले दिन ही झारखण्ड में एक बेकशूर को भीड़ ने बीफ के नाम पर मार दिया। इस घटना में भाजपा के एक नेता का हाथ था जिसे गिरफ्तार कर लिया गया। प्रधानमंत्री के इस नसीहत के बाद भी घटना में कमी नहीं आई है। इससे स्पष्ट होता है कि या तो प्रधानमंत्री इस घटना को रोकना नहीं चाहते है या ऐसी घटनाओ को रोकने में असफल रहे है।
गौ रक्षक गाय को बचाने के नाम पर बेकशूर लोगो को मर रहे है। गौ रक्षक सड़को के किनारे कचरा खाती गाय को देख कर चुप हो जाते है। समझ नहीं आता है कि इस मामले में गौ रक्षक गायों को बचाने क्यों नहीं आते है। गौशाला में न जाने कितनी गाये भुखों मर जाती है। फिर भी गौ रक्षक चुप रहते है। जितने भी गौ रक्षक है शायद ही किसी के घर गाय हो। गाय के नाम पर राजनीती करने में भाजपा नेता पीछे नहीं हटते है। गाय को बचाने के लिए खूब बयान देते है, लोगो को भड़काते है। लेकिन इनके घरों में एक भी गाय नहीं पाई जाती है। अगर ये नेता अपने घरो पर गाय पलने लगे तो समझा जाए की वाकई में गाय को बचाना चाहते है। लेकिन इनलोगो को गाय के नाम पर अपनी कुर्सी बचानी होती है।
जो लोग नेताओ के कहने पर गाय के लिए जो कर रहे है उन्हें भी इसके विषय में वास्तविकता से रु- बरु होने की ज़रुरत है। भारत दुनिया का सबसे ज़्यादा बीफ निर्यात करने वाला एक मात्र देश है। भारत में जितने भी बड़े बूचड़खाने है उसका मालिक हिन्दू है। हिन्दू बीफ निर्यात का ब्यापार करते है। भारत सरकार को इससे काफी टैक्स मिलता है। भारत के कुछ बड़े  बूचड़खानों का विवरण निम्नलिखित है
1.अल कबीर:- इसके मालिक है सतीश और   अतुल सभरवाल
2.अरेबियन एक्सपोर्ट:-इसके मालिक है सुनील कपूर
3.पी. एम.एल. इंडस्ट्रीज़:- इसके मालिक है ए. एस. बिंद्रा
4.एम.के.आर. फ्रोजेन फूड्स:-इसके मालिक है मदन अब्बोट
भाजपा सिर्फ राजनितिक फायदे के लिए ऐसा कार्य कर रही है। अगर बीफ से इतना ही नफरत है तो इन सब कंपनियो को बन्द कर दिया जाए और लोगों से गाय पालने के लिए अनुरोध किया जाए। सच तो यह भी है कि जितने भी गौ रक्षक है शायद उनलोगो को भी इस सच्चाई के बारे में पता नहीं है। ऐसे लोगो को सच्चाई से दूर रख कर उनको भड़काया जाता है फिर वो ऐसी शर्मनाक घटनाओ को अंजाम देते है।

 

 





अन्य समाचार

2
3
4