महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे को महामंडित करना राष्ट्रद्रोह: दिग्विजय सिंह

Asia Times Desk

भोपाल : भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ करार दिए जाने से जुड़े कथित बयान की घोर निंदा करते हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने बृहस्पतिवार को कहा कि गोडसे को महामंडित करना देशद्रोह है।

उन्होंने कहा कि प्रज्ञा के इस बयान पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मध्यप्रदेश में भाजपा के लोगों को बयान देना चाहिए और देश के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।

प्रज्ञा द्वारा विवादित बयान दिये जाने के चंद घंटों बाद दिग्विजय ने उज्जैन में मीडिया से कहा, ‘‘राष्ट्रपिता (महात्मा गांधी) के खिलाफ (प्रज्ञा ने) जिन शब्दों का प्रयोग किया गया है, मैं उसकी घोर निंदा करता हूं।” उन्होंने आगे कहा, ‘‘नाथूराम गोडसे हत्यारा था और उसको महामंडित करना राष्ट्रभक्ति नहीं है। ये राष्ट्रद्रोह है।”

दिग्विजय ने कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदीजी, अमित शाह जी और मध्यप्रदेश के भाजपा के लोग इस पर बयान दें और देश से माफी मांगें।”

Advt

देवास लोकसभा सीट पर 19 मई को होने वाले चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी महेन्द्र सोलंकी के समर्थन में रोड शो कर रहीं प्रज्ञा ने एक सवाल के जवाब में स्थानीय न्यूज चैनल से बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांक कर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा।” प्रज्ञा से कमल हासन के हालिया बयान के बारे में सवाल किया गया था।

मालूम हो कि कुछ दिन पहले मक्कल नीधि मैयम (एमएनएम) के संस्थापक एवं मशहूर अभिनेता कमल हासन ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के संदर्भ में विवादित बयान देते हुए कहा था कि ‘आजाद भारत का पहला चरमपंथी एक हिंदू था।’ प्रज्ञा वर्ष 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं और फिलहाल जमानत पर हैं। भोपाल लोकसभा सीट पर प्रज्ञा का मुख्य मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह से है। इस सीट पर 12 मई को मतदान हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *