परेशानीयों का परमानेंट घर असम का धुबरी जिला

Positive 2 की #KnowAboutMuslimAreas सीरीज़ की पाँचवी कड़ी: धुबरी #Dhubri

Ansar Imran SR

Positive 2:- परेशानीयों का परमानेंट घर असम| एक मुसीबत ख़तम तो दूसरी शुरू दूसरी ख़तम तो तीसरी का इस्तकबाल होता है| हर साल बाढ़ से पीड़ित राज्य, अवैध घुसपैठ, रोजगार को तरसते लोग………….. इन्ही सब परेशानीयों का नाम है असम और उसका एक पूर्वी जिला है धुबरी जिसे असम का एंट्री डोर भी कहा जाता है|

2838 sq km में फैला हुआ यह जिला तरकीबन 19.5 लाख लोगों का घर है जिसमें से 15 लाख आबादी मुस्लिम है| इस जिले का मुख्य कारोबार खेतीबाड़ी और फारेस्ट पर निर्भर है| मुसलमानों की बड़ी आबादी रोज़ाना मजदूरी करने वाले लोग है जो अपने जिले में काम न मिलने की वजह से उपर असम में जाते है जहाँ वो अक्सर जातीय हिंसा का शिकार बनते है|

पूरी विडियो यहाँ देखें:

बाकी असम की तरह धुबरी में भी अवैध घुसपैठ का मुद्दा हमेशा सियासत की धुरी रहा है| मुस्लिम आबादी के लिहाज़ से सबसे बड़ा जिला होने की वजह से यह जिला हमेशा मुस्लिम सियासत की धुरी रहा है मगर रोजगार और विकास के मामले में शून्य है| 1091 गाँव को अपनी गोद में समेटे हुये गरीब और daily laborer का घर है धुबरी…

बाकी सब खैरियत है!!!

ANSAR IMRAN SR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *