पाकिस्तान की ज़ैनब के नाम ख़त

मेरी भांजी! अज़ीज़ अज़ जान प्यारी गुड़िया ज़ैनब! नेक तमन्नाएं! ये लिखते लिखते रुक गया कि तुम्हारी तमन्नाओं का किस

Read more

समाज को गुमराही के अंधकार से निकालकर सौहार्द व प्रेम की माला में पिरोने वाले हज़रत मोहम्मद स०अ०

विशेष: दुनिया के बहुत से राष्ट्र अपनी स्वतंत्रता के 50-100 साल बाद भी अपने अमानवीय आचरण को नहीं बदल सके,

Read more

जिन्हों ने विकास से कोसों दूर बस्ती जिले में शिक्षण संस्थाओं की आधार शिला रखी

बस्ती : यह तस्वीर मरहूम अब्दुल खैर साहब की है जिन्होंने विकास की मुख्य धारा से कोसों दूर बस्ती जनपद

Read more

हदिया ने कहा कि, मैं अपनी आजादी चाहती हूं. मैं पिछले 11 महिनों से अवैध तरीके से घर में कैद थी

सुप्रीम कोर्ट: केरल लव जिहाद मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई के दौरान हदिया के बयान दर्ज किया

Read more

जिस तरह उर्दू अखबार मुसलमानों की पत्रकारिता करता है उसी तरह मेरा अखबार हिन्दू पत्रकारिता करेगा

आज से लगभग 15 साल पहले महात्मा गांधी हिन्दी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, वर्धा की पत्रिका ‘पुस्तक वार्ता’ में 2002 में वरिष्ठ

Read more

आप को डर किस से है? अल्लाहु अकबर से, मदरसे से या फिर आतंक से?

बलबीर पुंज ने किसी घटना का उदाहरण देते हुए लिखा है कि आतंकी अल्लाहु अकबर बोल रहे थे… इसलिए मदरसे

Read more