विश्व उर्दू दिवस :उर्दू भाषा के प्रति छात्राओं ने जागरूकता का ऐसे दिया संदेश

‘सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तां हमारा........’ कौमी तराना के मशहूर : अल्लामा इक़बाल‘

एशिया टाइम्स

 जोधपुर 09 नवम्बर। भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के 129वें जन्मोत्सव के मौके पर मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी के अधीन संचालित गंगाणा रोड़ बुझावड़ स्थित मौलाना आज़ाद विश्वविद्यालय में 9 से 11 नवम्बर तक तीन दिवसीय समारोह आयोजित होने जा रहा है।

समारोह के पहले दिन ‘सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा…….. कौमी तराना के मशहूर लेखक डाॅ. सर अल्लामा मुहम्मद इक़बाल‘ के जन्मदिवस 9 नवम्बर को पूरी दुनिया में मनाये जाने वाले विश्व उर्दू दिवस के अवसर पर उर्दू भाषा के प्रति जागरूकता का पैग़ाम कार्यक्रम गुरूवार को आयोजित किया गया।

यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार डाॅ इमरान खान पठान ने बताया कि छात्राओं ने हाथों में उर्दू अक्षरों की तख्तियां थाम कर, उर्दू सहेज़ने का संदेश दिया। साथ ही कहा गया कि उर्दू एक भाषा के साथ-साथ तहज़ीब (संस्कृति) है। उर्दू भाषा हमारी गंगा – जमुनी संस्कृति की पहचान है। हमें उर्दू के बढ़ावें के लिए इसका ज्यादा से ज्यादा दैनिक जीवन में उपयोग करना चाहिए।

उर्दू विभाग के एसिस्टेंट प्रोफेसर अजीजुलहसन ने जानकारी दी कि इस मौक़े पर छात्राओं ने राष्ट्र प्रेम से ओत-प्रोत कौमी तराना ‘सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा…….. मज़हब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना, हिन्दी है हम, वतन है हिन्दोस्तां हमारा,………..  भी पेश कर स्वर्गीय अल्लामा इक़बाल को उनके 140 वें जन्मोत्सव पर श्रृदांजलि (खिराज ए अकीदत) पेश की। इस मौके पर डिप्टी रजिस्ट्रार आर ए खान, कला संकाय के डीन डाॅ इनाम इलाही, असिस्टेंट प्रोफेसर डाॅ समीना, डाॅ मरजीना, डाॅ साबरा कुरैशी, डाॅ सीमा परवीन खान, डाॅ नीलम जोशी, डाॅ सरोज पटेल, मुमताज सय्यद, परवेज अहमद, जुगनू खान, डिम्पल प्रजापत, राजकुमार सहित समस्त व्याख्यागतागण एवं विद्यार्थी उपस्थित थे। शुक्रवार को मौलाना आजाद डे के अन्तर्गत मेहन्दी, गायन व रंगोली प्रतियोगिता आयोजित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *