शाहीन बाग नहीं, मुफ्त योजनाओं के समर्थन-में वोट पड़े

नई दिल्ली. शनिवार को जब दिल्ली के वोटर 70 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाल रहे थे, तब भास्कर की टीम ने उनका मिजाज भांपने की कोशिश की। हमने तय किया कि 10 विधानसभा के 40 पोलिंग बूथ तक पहुंचेंगे और लोगों से जानेंगे कि उन्होंने क्या सोचकर वोट दिया? बातचीत के दौरान लोकतंत्र के मकसद को बताते कुछ पावरफुल स्टेटमेंट सामने आए। इसकी झलक वोटरों के इन बयानों से मिलती है- ‘‘जो काम करेगा, वही जीतेगा। जिंदगी सुधर जाए, ये सोचकर वोट डाला है। सब जाति और धर्म की बात करते हैं, देशहित की कोई बात नहीं करता। ...और फ्री कुछ नहीं होता, इससे लोग निकम्मे बनते हैं।’’

हमने शुरुआत की बल्लीमारान विधानसभा से। सबसे पहले पहुंचे राबिया पब्लिक स्कूल में बनाए गए पोलिंग बूथ पर। बाहर ही मिल गए अबुल हसन। पूछा- सर, क्या सोचकर वोट दिया? तो बोले- ‘‘हमने अमन और सुकून के लिए वोट दिया है। हमने केजरीवाल को वोट दिया है।’ आलम परवेज बोले, ‘‘जो काम करेगा, अब वही जीतेगा। दिल्ली में तो पहले भी यही होता आया है।’’ एमसी मॉडल स्कूल में बने पोलिंग बूथ पर हमें मोहम्मद वसीम मिले। बोले, ‘‘मुझे इस बात से चिंता हो रही है कि अमित शाह ने ऐसा क्यों बोला कि नतीजे हैरान कर देंगे और कांग्रेस-आप ईवीएम पर चुप क्यों हैं’’' हमने पूछा, आपने क्या सोचकर वोट दिया? तो बोले, ‘‘काम को वोट दिया है बस।’’ यहीं मिली गौहर कहती हैं, ‘‘केजरीवाल हमारी परेशानियां सुनते हैं। बिजली-पानी में बहुत अच्छा कर दिया इसलिए हमने केजरीवाल को ही वोट दिया।’’

काम को देखकर वोट दिया
बल्लीमारान के नजदीक ही स्थित है चांदनी चौक विधानसभा। रामजस स्कूल में बनाए गए पोलिंग बूथ पर शेरसिंह मिले। बोले, 'मैंने तो कुछ नहीं सोचा, जो दिल में आया, उस बटन को दबा आया।' अमित प्रसाद बोले, 'विकास के लिए वोट दिया है। बीजेपी अच्छा काम कर रही है। वोट डालकर आ रहे त्रिलोकचंद्र शर्मा से हमने पूछा कि क्या सोचकर वोट दिया तो बोले, 'जिसने काम किया, उसको वोट दिया। केजरीवाल ने काम किया इसलिए उन्हें दिया। पूजा मेहरा बोलीं, 'काम करने वाले को दिया है।'

जिंदगी सुधर जाए, ये सोचकर वोट दिया
इसके बाद हम मटिया महल विधानसभा की और बढ़े। आर्य समाज कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में बने पोलिंग बूथ पर 70 साल की वकीला बेगम मिलीं। बोलीं, 'जिंदगी सुधर जाए, ये सोचकर वोट किया।' सागर सक्सेना बोले, 'विकास के लिए वोट डाला है। फ्री-व्री कुछ नहीं होता। इससे लोग निकम्मे बनते हैं।' एमएएनडीसी डब्यू डिस्पेंसरी में बनाए गए पोलिंग बूथ पर मिले देशराज ने कहा, 'वोट डालने से पहले कुछ नहीं सोचा।' जावेद आलम बोले, 'हमने बिजली-पानी जैसे लोकल मुद्दों पर वोट दिया है।'

एक जैसी सरकार आ जाए, ये सोचा
करोलबाग विधानसभा में हम राजकीय उच्चतम माध्यमिक कन्या महाविद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर पहुंचे। वोट डालकर आ रहे मनोज अरोड़ा बोले, 'सरकार एक जैसी होना चाहिए दिल्ली में भी और केंद्र में भी। यही सोचकर वोट किया है।' राजीव बोले, 'राष्ट्र के बारे में सोचकर वोट डाला। केंद्र अच्छा काम कर रहा इसलिए वोट बीजेपी को दिया।' खालसा गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल में बनाए गए बूथ पर मिले हुकुम सिंह ने कहा, 'व्यापारियों के कामकाज पर पानी फेर दिया। गरीबों के लिए केजरीवाल ने बहुत काम किया इसलिए आप को वोट दिया।' गुरुसिंह ने कहा- दिल्ली की तरक्की के बारे में सोचकर वोट दिया, क्योंकि केजरीवाल शिक्षा में काफी बेहतर काम कर रहे हैं।

देशहित में वोट दिया
करोलबाग से हमारी टीम सदर बाजार विधानसभा पहुंची। हीरालाल जैन उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर मिले प्रीतम सिवान बोले, 'हमने राष्ट्र के मुद्दे पर वोट दिया। हमें फ्री का माल नहीं चाहिए।' उषा बोलीं, 'हमने तो कांग्रेस को वोट दिया।' जैन समनोपासक वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर मिलीं अनीसा बोलीं, 'इंसानियत के बारे में सोचकर वोट दिया।' मेहरचंद बोले, 'देश के हित में वोट दिया। लोकल मुद्दों से कोई मतलब नहीं। हमने देश के लिए वोट दिया।'

जो चल रहा है, वही चले, यही सोचकर वोट किया
इसके बाद हम दिल्ली के दिल यानी नई दिल्ली विधानसभा पर पहुंचे। पोलिंग बूथ पर मिली 78 साल की सुमित्रा बोलीं, 'जो चल रही है, वही चला रहे हैं। जो अच्छा काम करेगा, उसे ही वोट देंगे।' अटल आदर्श प्राथमिक विद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर मिले प्रवीण मित्तल बोले, 'मोदीजी देश के लिए अच्छा काम कर रहे हैं इसलिए उन्हें वोट दिया।' मोहम्मद अफजल बोले, 'सब जाति और धर्म की बात करते हैं, देशहित की कोई बात नहीं करता।' सन्नो बोलीं, केजरीवाल दिल्ली का भला कर रहे हैं, इसलिए उन्हें वोट दिया।

दिल्ली के विकास के बारे में सोचा
राजेंद्र नगर विधानसभा में स्वामी दयानंद सर्वोदय कन्या महाविद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर गुरमीत कौर मिलीं। बोलीं- देश के विकास के मुद्दे पर वोट डाला। मनिंदर सिंह बोले, 'अभी दिल्ली में काम ठीक हो रहा है। इस सरकार को और मौका देना चाहते हैं।' सलवान गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल स्थित पोलिंग बूथ पर मिले डीएस ग्रोवर ने कहा कि हमने लोकल मुद्दों पर वोट दिया। राजेंद्र कुमार बोले- मैंने विकास के बारे में सोचकर वोट दिया।

केजरीवाल सरकार का काम देखकर वोट दिया
पटेल नगर विधानसभा में मिले लक्ष्मीनारायण कहते हैं, 'देश के बारे में सोचकर वोट दिया। देश का अच्छा नाम हो रहा है, आगे भी ऐसा होना चाहिए।' आशादेवी बोलीं, 'जो गरीब आदमी का भला करे, जनता का भला करे, उसे वोट दिया।' सर्वोदय कन्या महाविद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ पर मिले वीरेंद्र बोले, 'दिल्ली की साफ-सफाई और काम से संतुष्ट हूं, मौजूदा सरकार को एक मौका और देना चाहता हूं।' शिवांस बोले, 'आम आदमी पार्टी अच्छा काम कर रही है, सुधारों के बारे में सोचकर ही वोट किया।'

पार्टी नहीं, प्रत्याशी को देखा
मोती नगर विधानसभा के अम्बेडकर यूनिवर्सिटी स्थित पोलिंग बूथ पर मिले विक्की बोले, फ्री का कुछ नहीं चाहिए। देश के बारे में सोचकर वोट किया। नरेश कुमार भाटिया ने कहा कि हम इनकम टैक्स देते हैं, लेकिन सरकार हमारा पैसा फ्री की योजनाओं में लगा रही है। ये ट्रेंड गलत है। हरीश सांवरिया बोले, मौजूदा सरकार से संतुष्ट नहीं हैं। सरकार ऐसी हो, जो सबके बारे में सोचे। अमित मेहता बोले, 'मैंने किसी पार्टी नहीं, बल्कि प्रत्याशी को देखकर वोट किया है। सरकार के कामों से पूरी तरह खुश नहीं हूं।'

बस में किराया नहीं लगता, ये सोचकर वोट दिया
त्रिनगर विधानसभा में मिली सरिता बोलीं, स्कूल में बच्चे की पढ़ाई अच्छी होने लगी और बस में किराया नहीं लगता यही सोचकर केजरीवाल को वोट दिया। राजीव मेहता बोले, दिल्ली में सरकार ने कुछ बनाया नहीं, सब बिगाड़ दिया। फ्री का बोलकर वोट ले रहे हैं, यही सोचकर मौजूदा सरकार को वोट नहीं दिया। 

0 comments

Leave a Reply